Browsing Tag

Best Islamic Quotes in Hindi

Hindi Islamic Quotes, Islamic Inspirational Quotes Hindi, Islamic Inspirational Quotes in Hindi, Islamic Quotes Hindi, Islamic Quotes in Hindi Images

KhudKhushi ki Wajah, Azab aur Iska Ilaaj

KhudKhushi (Suicide) in Islam KhudKhushi (Suicide) ka Matlab hai Insan ka Apne Aap ko kisi bhi Zariye se Amdan Qatal karna. Khudkushi Karna Haraam hai aur Kabeerah Gunaah hai. Allah Taala Quraan-e-Kareem me Irshad farmata hai : ۞…
Read More...

Nijat ka Matlab | Jo Khamosh Raha Usne Nijat Paai

Nijat / Najat / Najaat ka Matlab ۞ Hadees: Uqba Bin Aamir (R.A.) farmate hai, Maine Arz kiya "Ya Rasool'Allah (ﷺ) ! Najaat kya hai?" Aap (ﷺ) ne farmaya : "Apni Zubaan ko Boori Baato se Roke Rahna Nijat hain." Tirmizi Sharif ۞…
Read More...

शबे मेराज का वाकिया | Shab e Meraj ka waqia

मेराज की घटना नबी (सल्ललाहो अलैहि वसल्लम) का एक महान चमत्कार है, और इस में आप (सल्ललाहो अलैहि वसल्लम) को अल्लाह ने विभिन्न निशानियों का जो अनुभव कराया यह भी अति महत्वपूर्ण है। मेराज के दो भाग हैं, प्रथम भाग को इसरा और दूसरे को मेराज कहा…
Read More...

Allah Ta’ala ko Lagne waali Sabse Boori baat

♥ Mahum-e-Hadees: Abdullah bin Masood (R.A.) se riwayat hai ki, RasoolAllah (Sallallahu Alaihi Wasallam) ne farmaya: "Allah Subhanhu Ta'ala ko sabse Napasandeeda (Buri) baat ye lagti hai ki koi shakhs kisi se kahe ki Allah se Daro aur wo…
Read More...

[140+] Islamic Quotes in Hindi | पैगम्बर हजरत मुहम्मद साहब (ﷺ) की शिक्षाओं की एक झलक

1 समस्त संसार को बनाने वाला एक ही मालिक अल्लाह हैं। वह निहायत मेहरबान और रहम करने वाला है। उसी की ईबादत (पूजा) करो और उसी का हुक्म मानो।2 अल्लाह ने इन्सान पर अनगिनत उपकार किए हैं। धरती और आकाश की सारी शक्तियॉ इन्सानों की सेवा मे लगा दी…
Read More...

जानिए- क्यों मनाई जाती ही क़ुरबानी ईद ? (क़ुरबानी की हिक़मत)

" कह दो कि मेरी नमाज़ मेरी क़ुरबानी 'यानि' मेरा जीना मेरा मरना अल्लाह के लिए है जो सब आलमों का रब है ।" - बकरा ईद का असल नाम "ईदुल-अज़हा" है, मुसलमानों में साल में दो ही त्यौहार मजहबी तौर पर मनाए जाते हैं एक "ईदुल फ़ित्र" और दूसरा "ईदुल…
Read More...

99 क़ीमती बातें | कुरआन व हदीस की रौशनी में

1 अल्लाह की याद से अपने दिल को ताज़ा दम रखा कीजिए। इस लिए के खुदा की याद क़ुलूब के लिए इत्मिनान का जरिया है। (सूरह राअद 28) 2 अल्लाह की ज़ात आली पर मुकम्मल भरोसा कीजिये। इस लिए के अल्लाह त’अला तवक़्क़ल करने वालों को…
Read More...

14. ज़िल कदा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा 5 Minute Ka Madarsa in Hindi इस्लामी तारीख: इत्तिबाए सुन्नत का एक नमूना हुजूर (ﷺ) का मुअजीजा: दरख्त का आप (ﷺ) की खिदमत में आना एक फर्ज के बारे में: तक्बीरे तहरीमा एक सुन्नत के बारे में: अरफ़ात में…
Read More...

7. ज़िल कदा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा 5 Minute Ka Madarsa in Hindi इस्लामी तारीख: हजरत अली बिन हुसैन (रह.) अल्लाह की कुदरत: फलों में रंग, मज़ा और खुश्बू एक फर्ज के बारे में: हज के महीने में एहराम बांधना एक सुन्नत के बारे में: जम जम खड़े…
Read More...

5. ज़िल कदा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा 5 Minute Ka Madarsa in Hindi इस्लामी तारीख: अरफ़ात अल्लाह की कुदरत: समुंदरी मखलूक की हिफाजत एक फर्ज के बारे में: सई को तवाफ के बाद करना एक सुन्नत के बारे में: सवारी पर सवार होने के बाद की दुआ एक…
Read More...

5. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: हजरत खौला बिन्ते सअलबा (र.अ.) अल्लाह की कुदरत: बदन के जोड़ एक फर्ज के बारे में: नमाज़ छोड़ने पर वईद एक सुन्नत के बारे में: बैतुलखला जाने का तरीका एक अहेम अमल की फजीलत: रास्ते से तकलीफ देह चीज़ को हटाना एक…
Read More...

3. शव्वाल | सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा (कुरआन व हदीस की रौशनी में)

इस्लामी तारीख: उम्मुल मोमिनीन हजरत आयशा (र.अ) अल्लाह की कुदरत: एक ही पानी से फल और फूल की पैदाइश एक फर्ज के बारे में: पानी न मिलने पर तयम्मुम करना एक सुन्नत के बारे में: इस्तिंजा के वक्त कपड़ा हटाने का तरीका एक अहेम अमल की…
Read More...

1. शव्वाल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). उम्मुल मोमिनीन हज़रत खदीजा (र.अ), (2). समुन्दर का उतरना चढ़ना, (3). अल्लाह तआला पूरी कायनात का रब है, (4). माफ़ करना, (5). शव्वाल में छ: (६) रोजे रखना, (6). मुनाफ़िक की निशानियाँ, (7). मौत और माल की कमी से घबराना, (8). हर एक को…
Read More...

शबे क़द्र और इस की रात का महत्वः (शबे क़द्र की फ़ज़ीलत हिंदी में)

शबे क़द्र का अर्थ: रमज़ान महीने में एक रात ऐसी भी आती है, जो हज़ार महीने की रात से बेहतर है। जिसे शबे क़द्र कहा जाता है। शबे क़द्र का अर्थ होता हैः "सर्वश्रेष्ट रात", ऊंचे स्थान वाली रात”, लोगों के नसीब लिखी जानी वाली रात। शबे क़द्र बहुत…
Read More...

और (हे मनुष्य!) तेरे पालनहार ने आदेश दिया है कि उसके सिवा किसी की इबादत (वंदना) न करो तथा माता-पिता…

अच्छाई उदारता नहीं है:  माता-पिता के साथ अच्छा बर्ताव अनिवार्य है उदारता नहीं। “और (हे मनुष्य!) तेरे पालनहार ने आदेश दिया है कि उसके सिवा किसी की इबादत (वंदना) न करो तथा माता-पिता के साथ उपकार करो।” (कुरआन १७:२३) Ref: Wisdom Media…
Read More...

सताए हुए की आह से बचो, क्यूंकि उसके और अल्लाह के मध्य कोई रुकावट नहीं होती।

पैग़म्बर मुहम्मद (ﷺ) ने फ़रमाया: ❝ सताए हुए की आह से बचो, क्यूंकि उसके और अल्लाह के मध्य कोई रुकावट नहीं होती। ❞ 📕 बुख़ारी | #IslamicQuotes by Quotes.Ummat-e-Nabi.com
Read More...

अल्लाह के साथ शिर्क न करना अगरचे तुम टुकड़े टुकड़े कर दिए जाओ और जला दिए जाओ। [हदीस: इब्ने माजाह 4034]

۞ हदीस : अल्लाह के पैगम्बर (ﷺ) ने फ़रमाया : “अल्लाह के साथ शिर्क न करना अगरचे तुम टुकड़े टुकड़े कर दिए जाओ और जला दिए जाओ।” 📕 सुनन इब्ने माजाह; 4034 – सहीह
Read More...

सत्य साधक के लिए कुरआन मार्गदर्शक है। “वास्तव में, ये कुरआन वह मार्ग दिखाता है, जो सबसे सीधी है…”…

सत्य साधक के लिए कुरआन  मार्गदर्शक है। “वास्तव में, ये कुरआन वह मार्ग दिखाता है, जो सबसे सीधी है…” (कुरआन  17:9) Ref: Wisdom  Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com
Read More...

संदेह पैदा करनेवाले को छोड़कर निःसंदेह वाले को स्वीकार करें। सत्य शांति है और असत्य शंका।” (हजरत…

अनिश्चित्व/ संदेह में शांति नहीं। “संदेह पैदा करनेवाले को छोड़कर निःसंदेह वाले को स्वीकार करें। सत्य शांति है और असत्य शंका।” (हजरत मुहम्मद ﷺ) Ref: Wisdom  Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com
Read More...

Baat me Narmi aur Bepardagi | Post 13 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 1⃣3⃣ "इस्लाम और हमारा घर" बात में नरमी और बेपर्दगी अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया: "ऐ नबी की बीवियों! तुम आम औरतों की तरह नहीं हो, अगर तुम तक़्वा इख़्तियार करना चाहती हो तो बातों में लचक ना पैदा करो वरना जिसके दिल में बीमारी है वो…
Read More...

Kuffaro ki Mushabiyat me Shirqat | Post 12 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 1⃣2⃣ "इस्लाम और हमारा घर" कुफ्फारों की मुशाबियत में शिरकत अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: "जो किसी क़ौम से मुशाबहत इख़्तियार करे वो उन्हीं में से है।" ( अबूदाऊद ) रावी: इब्ने उमर (मोजमुल वसीत: हुज़ैफा रज़िअल्लाहु अ़न्हु) (…
Read More...

Baaz Halaaq karne waali cheeze | Post 11 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 1⃣1⃣ "इस्लाम और हमारा घर" बाज़ हलाक करने वाली चीज़ें इब्ने अब्बास रज़िअल्लाहु अ़न्हु फ़रमाते हैं: "अल्लाह के रसूल ﷺ ने उन मर्दो पर लानत भेजी है जो औरतों की मुशाबहत करते हैं और उन औरतों पर लानत की है जो मर्दो की मुशाबहत करती हैं।"…
Read More...

Gaane aur Mausiqi ki Mumaniat | Post 10 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 1⃣0⃣ "इस्लाम और हमारा घर" गाने और मौसीकी मुमानियत इमरान बिन हुसैन रज़िअल्लाहु अ़न्हु फ़रमाते हैं: अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: "इस उम्मत में ज़मीन का धंसना, लोगों के चेहरों का बदलना और पत्थरों की बारिश होने का अ़ज़ाब होगा ।…
Read More...

Kutte ko Ghar se Nikalna | Post 9 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 9⃣ "इस्लाम और हमारा घर" कुत्ते को घर से निकालना अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: "फ़रिश्ते ऐसे घर में दाखिल नहीं होते जिसमें कुत्ता हो और ना ऐसे घर में जाते हैं जिसमें तस्वीर हो।" ( अहमद, मुत्तफकुन अलैह, नसाई, तिर्मिज़ी, इब्ने माजा…
Read More...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More