Hadith for Today

Maut ke Baad kya Hoga by Adv. Faiz Syed

Maut ke Baad kya Hoga by Adv. Faiz Syed

Mout ki Kya Hakikat hai, Mout ke Baad insan kin marhalo se gujarta hai ? iske bare me Qurano Sunnat ke hawale se tafseeli jankari…

13. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

13. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

  1. इस्लामी तारीख:
  2. अल्लाह की कुदरत
  3. एक फर्ज के बारे में
  4. एक सुन्नत के बारे में
  5. एक अहेम अमल की फजीलत
  6. एक गुनाह के बारे में
  7. दुनिया के बारे में
  8. आख़िरत के बारे में
  9. तिब्बे नबवी से इलाज
  10. क़ुरान की नसीहत
12. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

12. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

  1. इस्लामी तारीख:
  2. हुजूर (ﷺ) का मुअजीजा:
  3. एक फर्ज के बारे में:
  4. एक सुन्नत के बारे में:
  5. एक अहेम अमल की फजीलत:
  6. एक गुनाह के बारे में:
  7. दुनिया के बारे में :
  8. आख़िरत के बारे में
  9. तिब्बे नबवी से इलाज
  10. नबी (ﷺ) की नसीहत:
9 Zil Hijjah जिल हिज्जा

9. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

च्यूँटी अल्लाह की कुदरत का नमूना है, एक फर्ज: नमाज के लिये मस्जिद जाना, हर नमाज के बाद तस्बीह फातिमी अदा करना,
औरतों का खुशबु लगाकर बाहर निकलने का गुनाह, तिब्बे नबवी से इलाज: नजर लगने से हिफाजत, नबी (ﷺ) की इताअत की अहमियत …

जो क़ुरबानी ना कर सके वो क़ुरबानी का सवाब कैसे पाए ?

जो क़ुरबानी ना कर सके वो क़ुरबानी का सवाब कैसे पाए ?

जो शख़्स कुरबानी करने की ताक़त नहीं रखता हो उसे कुरबानी करने का सवाब कैसे मिलेगा?

रसूलअल्लाह (ﷺ) ने एक आदमी से फ़रमाया :

मुझे कुरबानियों वाले दिन को ईद बनाने का हुक्म दिया गया है जिसे अल्लाह तआला ने इस उम्मत के लिए मुकर्रर फ़रमाया है। 

उस शख़्स ने अर्ज़ किया अगर मेरे पास दूध वाली बकरी के इलावा कोई और जानवर कुरबानी के लिए न हो तो फरमाइए क्या मैं उसे ही ज़बह कर दू ? 

आप ने फ़रमाया नही! लेकिन तू (कुरबानी वाले दिन) अपने (जिस्म के) बाल काट ले , नाखून और मुंछे तराश ले और ज़ेरे नाफ बाल साफ़ कर ले अल्लाह तआला के यहां तेरी तरफ़ से यहीं मुकम्मल कुरबानी शुमार होगी।

( सुनन निसाई #4370 / सहीह )

8 Zil Hijjah

8. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

  1. इस्लामी तारीख:
  2. हुजूर (ﷺ) का मुअजीजा:
  3. एक फर्ज के बारे में:
  4. एक सुन्नत के बारे में:
  5. एक गुनाह के बारे में:
  6. दुनिया के बारे में :
  7. आख़िरत के बारे में:
  8. तिब्बे नबवी से इलाज:
  9. नबी (ﷺ) की नसीहत:
← PREVNEXT →
7. जिल हिज्जाLIST9. जिल हिज्जा
7 Zil Hijjah

7. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

सीरत – इमाम नसई (रहमतुल्लाहि अलैहि), मुखतलिफ तरीके से पानी का उतरना, एक फर्ज : आप (ﷺ) की आखरी वसिय्यत, एक अहेम अमल: अरफ़ा के दिन रोजा रखना, नमाज़ दिखलावे के लिये पढ़ने का गुनाह, कुरआन की नसीहत: गवाही मत छुपाया करो …

हज का सुन्नत तरीका ~ कुरआन व सुन्नत की रौशनी में

हज का तारूफ , हज्ज के फ़र्ज़ होने की शर्तें, हज में एहतियात करने वाली बाते, एहराम की हालत में मना की हुई चीज़ें, हज्ज के तीन किस्मे, यौमूत्तर्वियह, अरफा का दिन , मुज़दलिफा में रात बिताना, यौमुन्नह्र (10 जिल हिज्जा – क़ुरबानी का दिन), अय्यामुत्तश्रीक़ (11,12,13 जिल हिज्जा), जिल हिज्जा की 12वीं तारीख

Kitne din biwi se door rehne par Shohar ka ussey Nikah Khatm ho jata hai

Kitne Din Biwi se Door Rehne par Nikah toot jata hai by Adv. Faiz Syed

Kitne din biwi se door rehne par Shohar ka ussey Nikah Khatm ho jata hai

Aam taur pe ek baat muashre me paayi jaati hai ke agar 4 mahine tak miya biwi ek dusre se alag rehe to unka nikah khatm ho jata hai. tou aayiye is mukhtasar se video clip me is unwan ke bare me tafsil me jankari lete hai, baraye mehabani isey jyada se jyada share kare.

Related post

People Also search as:

Biwi ka kitne din Shohar se door rehne par Nikah toot jata hai, kin cheezon se nikah toot jata hai, nikah kab toot jata hai, shohar biwi se kitne din door reh sakta hai, nikah toot jata hai in urdu, shohar biwi se kitne din dur reh sakta hai, nikah kin cheezon se toota hai, agar shohar humbistari na kare

5 Zil Hijjah जिल हिज्जा

5. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

सीरत – इमाम अबू दाऊद (रहमतुल्लाहि अलैहि), अल्लाह की कुदरत – बिजली कुंदना, एक फर्ज – नेकियों का हुक्म और बुराइयों से रोकना, अच्छे अखलाक़ वाले का मर्तबा, नमाज़ से मुंह मोड़ने का गुनाह …

4 Zil Hijjah जिल हिज्जा

4. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

सीरत – इमाम मुस्लिम (रहमतुल्लाहि अलैहि), हुजर का मुअजिजा (ﷺ) कंधे का ठीक होना, एक फर्ज – नमाजे अस्र की अहमियत, रास्ते से तकलीफ़ देह चीज़ को हटाने की फ़ज़ीलत, काफ़िरों के माल से तअज्जुब न करना …

3 Zil Hijjah जिल हिज्जा

3. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

सीरत – इमाम बुखारी (रहमतुल्लाहि अलैहि), अल्लाह की कुदरत – हीरा और कोयला, एक फर्ज – शौहर के भाइयों से पर्दा करना, जमीन नाहक लेने का अज़ाब, सब से ज़ियादा खौफ़ की चीज़ …

2 Zil Hijjah जिल हिज्जा

2. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

नमाज छोड़ने का नुकसान, मुसीबत या खतरे को टालने की दुआ, मस्जिदे नबवी में चालीस नमाज़ों का सवाब, तकब्बुर से दिल पर मुहर लग जाती है, आखिरत के मुकाबले में दुनिया से राजी होने से बचना, मोमिनों का पुल सिरात पर गुजर …

1 Zil Hijjah जिल हिज्जा

1. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

अंबर मछली में अल्लाह की क़ुदरत, अल्लाह तआला सबको दोबारा ज़िन्दा करेगा, कुर्बानी जहन्नम से हिफाजत का ज़रिया, क़ुरबानी न करने पर वईद, कयामत के दिन बदला कुबूल न होगा …

Qurbani ki Niyat / Dua kya hai?

Qurbani ki Niyat / Dua kya hai?

Qurbani ki Dua, Qurbani ki niyat se murad woh Dua hai Jo Sunnat se Sabit hai. « Bismillaahi wallaahu ‘Akbar » [Sahih Muslim: 1965]