Nazar ki Dua : नज़रे बद कि दुआ | बुरी नज़र से बचने और नज़र दूर करने की दुआएँ

Nazar ki Dua : नज़रे बद कि दुआ | बुरी नज़र से बचने और नज़र दूर करने की दुआएँ

Nazar ki Dua : बुरी नज़र से बचने कि दुआ, बुरी नज़र लग जाये तो दूर करने की दुआ, नजर उतारने की सूरत, नजर उतारने का इस्लामी तरीका, छोटे बच्चों की नजर कैसे उतारे, Nazar Utarne ki Dua in Quran and Hadees


नज़रे बद के नुक़सानात :

बुरी नज़र लगने से इंसान की मौत भी हो सकती है:

1. हदीस: नबी-ए-करीम (ﷺ) का फरमान है: “नज़र आदमी को कब्र में दाखिल कर देती हैं और ऊंट को हांडी में।” 1

2. हदीस: अब्दुल रहमान बिन जाबिर (रज़ि) अपने वालिद से बयान करते हैं की रसूलअल्लाह (ﷺ) ने फरमाया “मेरी उम्मत के अक्सर लोग जो अल्लाह की किताब और उसके फ़ैसले और उसकी तक़दीर के बाद फौत होंगे (मरेंगे) वो नज़र लगने से होंगे।” 2

✦ तशरीह : बुरी नज़र से बड़े से बड़ा नुक़सान हो सकता है यहा तक की इंसान मर भी जाता है।


Nazar ki Dua : नज़रे बद से बचने की दुआ:

Nazar ki Dua : जिस को अपना या किसी का माल, औलाद अच्छी लगे तो यह दुआ पढ़े ।

مَا شَاءَ اللَّهُ لَا قُوَّةَ إِلَّا بِاللَّهِ

माशाअल्लाहु लाकुव्व-त- इल्ला बिल्लाह 

तर्जुमा : जो अल्लाह चाहे कोई ताकत नहीं मगर अल्लाह की मदद से। 

📕 सूरह कहफ : आयत 39 ( तफसीर इब्ने कसीर)


Nazar Utaarne ki Dua : नज़रे बद दूर करने की दुआ:

07-Nazre-Badd-door-karne-ki-dua

اَعُوذُ بِكَلِمَاتِ اللهِ التّامَّةِ مِنْ كُلِّ شَيْطَانٍ وَهَامَّةٍ وَ مِنْ كُلِّ عَيْنٍ لَّامَّةٍ  

अऊजूबि -कलिमातिल्लाहित्ताम्मती मिन कुल्ली शैतानिंव व् हाम्मतिंव व मिन कुल्लि अैनिल्लाम्मह

तर्जुमा : मैं अल्लाह के पूरे कलिमों के जरीए पनाह माँगता हूँ हर शैतान की बुराई से और हर तकलीफ देने वाले जानवर की बुराई से, और हर नज़र लगने वाली आँख की बुराई से।


वजाहत : रसूलुल्लाह ﷺ हज़रत हसन और हज़रत हुसैन के लिए इन कलिमों से पनाह माँगते थे।
और फरमाते थे के हज़रत इब्राहीम अलैहिस्सलाम हज़रत इस्माईल अलैहिस्सलाम और हज़रत इस्हाक अलैहिस्सलाम के लिए इन कलिमों से पनाह माँगा करते थे।

📕 सहीह बुख़ारी : बदउलख़ल्क (2/315) 


देखे: Nazar e Bad Ki Haqeeqat aur ilaj



और देखे:

  1. अल सिलसिला तुस साहिहा 2325 ↩︎
  2. अल-सिलसिला-अस-सहिहा, 3238 ↩︎

Leave a Comment