आज की हदीस

बग़ैर मेहरम से सफ़र व अजनबी से ख़लवत।

पोस्ट 35 : बग़ैर मेहरम से सफ़र व अजनबी से ख़लवत। इब्ने अ़ब्बास रज़िअल्लाहु अ़न्हु से रिवायत है कि, उन्होंने अल्लाह के नबी ﷺ को यूं फ़रमाते सुना कि: ❝ कोई मर्द किसी (नामेहरम) औ़रत के साथ ख़लवत…
Read More...

Trending

RECENT

उम्मत की इस्लाह

ख्वातीन-ए-इस्लाम

गैरमुस्लिमो के विचार

सत्य की खोज

संदेह और उत्तर

इस्लामिक कोट्स

हिकायत (नबियों के वाक़ियात)

सीरीज: हिंदी

Download

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More