12 Muharram | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

12. मुहर्रम | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: हजरत नूह (अ.स) की दावत, मुअजिजा : दरख्त का हुजूर (ﷺ) को इत्तेला देना, एक फ़र्ज़ : नमाजी पर जहन्नम की आग हराम है, अहेम अमल : नेअमत के मिलने पर अल्हम्दुलिल्लाह कहना, अल्लाह के साथ शिर्क करने का गुनाह, दुनिया चाहने वालों का अन्जाम …

10 Muharram | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

10. मुहर्रम | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: हज़रत इदरीस (अ.स) की दावत, मुअजिजा : अबू जहल पर खौफ, एक फ़र्ज़ : पर्दा करना फर्ज है, अहेम अमल : नमाज़े चाश्त की फ़ज़ीलत, कुफ्र व शिर्क का नतीजा
तिलावत ऐ कुरआन और जिक्रे इलाही की फ़ज़ीलत …

जब लोग अल्लाह और उसके रसूल के वादे का लिहाज नहीं करेंगे ....

जब लोग अल्लाह और उसके रसूल के वादे का लिहाज नहीं करेंगे …

नबी-ऐ-करीम (ﷺ) फरमाते है: “जब लोग अल्लाह और उसके रसूल के वादे का पास (लिहाज) …

Read Moreजब लोग अल्लाह और उसके रसूल के वादे का लिहाज नहीं करेंगे …

3 Zil Hijjah जिल हिज्जा

3. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

सीरत – इमाम बुखारी (रहमतुल्लाहि अलैहि), अल्लाह की कुदरत – हीरा और कोयला, एक फर्ज – शौहर के भाइयों से पर्दा करना, जमीन नाहक लेने का अज़ाब, सब से ज़ियादा खौफ़ की चीज़ …

Hadith: Qataa Rahmi (Rishte todne) wala Jannat me nahi Jayega

Hadith: 27-March:

Jubair bin Mut`im (R.A) se riwayat hai ke, RasoolAllah (Salallahu Alaihi Wasallam) ne farmaya “Qataa Rahmi karney wala (Yaani Rishtey todney wala) jannat me nahi jayega.”

Sahih Bukhari, Hadith: 5984


✦ हिंदी हदिस: जुबैर बिन मुतिंम रज़ी अल्लाहु अन्हु से रिवायत है के, नबी-ऐ-करीम (सलाल्लाहू अलैहि वसल्लम) ने फ़रमाया “कता रहमी करनेवाला (यानी रिश्ते तोड़ने वाला) जन्नत में नहीं जायेगा”

सही बुखारी, हदीस 5984


✦ Hadith: Narrated Jubair bin Mut`im: That he heard the Prophet (ﷺ) saying, “The person who severs the bond of kinship will not enter Paradise.”

Sahih Bukhari, Hadith: 5984

For more Islamic messages kindly download our Mobile App

Rate this post

Roza chorne ka azab | Roze Chorne se Bacha Kare

♪ Roze Chorne se Bacha Kare

Roza Chorna Kitna bada gunah, iska Azab kitna sakth hai, Tafseeli jaankari ke liye is Audio Bayan ka mutala kare,.

[vc_wp_custommenu nav_menu=”30670″ el_class=”clean_m also_2clm”]

Rate this post

Afwah ki Hakikat aur uske Nuksanat (Funny but Ilmi)

Aajkal muashre me log choti choti baato ki badi se badi afwaye failate hai aur sochtey tak nahi ke iska asar kaha tak ho sakta hai.. April fool ke naam se jhooth ko farow diya jata hai jab ke hum bhool jate hai ke jhooth ek kabira gunaah hai..
*beharhaal Afwah ke nataiz kitne sangeen hote hai isey jan’ne ke liye is mukhtsar si speech ka muta’ala kare , aur jyada se jyada share kar apne muashre ki islah me humara tawoon kare..
– JazakAllahu khairan kaseera !

Rate this post