Namaz ke liye Paaki haasil karna Farz hai

नमाज़ के लिए पाकि हासिल करना फ़र्ज़ है।

Roman Urdu

۞ Quran-e-Kareem me Allah Ta’ala farmata hai:
“Aye eman walo! Jab tum Namaz ke liye utho tou apne munh ko aur apne haathon ko kohniyon samet dho lo aur apne siron ka masah karo aur apne paaon ko takhnon samet dho lo aur agar tum janabat ki halat me ho to Ghusul ker lo.”

📕 Surah-e-Maidah 5:6

हिंदी

۞ कुरआन में अल्लाह तआला फर्माता है :

“ऐ ईमान वालो ! जब तुम नमाज़ पढ़ने का इरादा करो (अगर तुम बावज़ू न हो) तो (वुज़ू करने के लिये) अपने चेहरे को धोओ और अपने हाथों को कोहनियों समेत (धोओ) और अपने सरों पर (भीगा हाथ) फेरों और अपने पैरों को भी टख्नों समेत (धोओ) और अगर तुम जनाबत की हालत में हो, तो (नमाज़ से पहले सारा बदन) पाक कर लो।”

📕 सूर-ए-माइदा ५:६

English

۞ Allah Says in the Holy Quran:

“O People who Believe! When you wish to stand up for prayer, wash your faces, and your hands up to the elbows, and pass wet palms over your heads and wash your feet up to the ankles; and if you need a bath, clean yourselves thoroughly;”

📕 Surah-e-Maidah 5:6

मराठी

۞ अल्लाह पवित्र कुराणात म्हणतो:

“हे श्रद्धावंतांनो, जेव्हा तुम्ही नमाजसाठी उठाल तेव्हा हे आवश्यक आहे की तुम्ही आपले तोंड व हात कोपरापर्यंत धुवावे, डोक्यावर हात फिरवावे व पाय घोट्यापर्यंत धूत जावे. जर जनाबत (अपवित्रते) च्या स्थितीत असाल तर स्नान करून शुचिर्भूत व्हा.”

📕 सूर-ए-माइदा ५:६

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of