मूंछों को तराशना

रसूलुल्लाह (ﷺ) मूंछों को तराश्ते थे और फ़रमाया करते थे के हजरत इब्राहीम (र.अ) भी ऐसा ही किया करते थे।

इस्मिद सुरमा लगाना

हज़रत इब्ने अब्बास (र.अ) फरमाते हैं के रसूलुल्लाह (ﷺ) से हर रात सोने से पहले तीन मर्तबा इस्मिद सुरमा लगाया

मुसीबत के वक्त की दुआ

जब कोई मुसीबत पहुँचे या उसकी खबर आए, तो यह दुआ पढ़ेः “इन्ना लिल्लाहि व इन्ना इलाही राजिऊन” तर्जमा : हम

बीवियों को सलाम करना

हज़रत उम्मे सलमा (र.अ) बयान करती हैं के आप (ﷺ) रोजाना सुबह के वक्त बीवियों के पास तशरीफ ले जाया करते

तीन साँस में पानी पीना

हजरत अनस (ﷺ(र.अ) (पीने के वक्त) दो या तीन साँस लेते और फ़रमाते के रसूलुल्लाह (ﷺ) भी तीन मर्तबा साँस

हिकमत के लिये दुआ

हिकमत और सलाह व तकवा हासिल करने के लिये यह दुआ पढ़ें: तर्जुमा: ऐ हमारे परवरदिगार! हमें हिकमत अता फ़रमा

close
Ummate Nabi Android Mobile App