✩ Nind se Jagne ke baad ki Duain

नींद से जागने के बाद की दुआएँ - Supplications for when you wake up

0 7,339

1.〘Alhamdu lillahil-lathee ahyana baAAda ma amatana wa-ilayhin-nushoor.〙

(सारी तारीफ अल्लाह के लिए है, जिसने हमें मारने के बाद ज़िन्दा किया और उसी की तरफ उठकर जाना है।)

(All praise is for Allah who gave us life after having taken it from us and unto Him is the resurrection.)
– Bukhari fatah Al Baari 11/113 © www.Ummat-e-Nabi.com


2.〘La ilaha illal-lahu wahdahu la shareeka lah, lahul-mulku walahul-hamd, wahuwa AAala kulli shay-in qadeer, subhanal-lah, walhamdu lillah, wala ilaha illal-lah wallahu akbar, wala hawla wala quwwata illa billahil-AAaliyyil AAatheem. Rabbigh-fir lee〙

(अल्लाह के सिवा कोई इबादत के लायक़ नहीं। वह अकेला है। उसका कोई शरीक नहीं। उसी के लिए बादशाही है, उसी के लिए सब तारीफ़ है और वह हर चीज़ पर क़ादिर है। अल्लाह पाक है। सब तारीफ़ अल्लाह के लिए है। अल्लाह के सिवा कोई सच्चा माबूद नहीं। अल्लाह सबसे बड़ा है। सर्वोच्च एवं महान अल्लाह की मदद के बिना न किसी चीज़ से बचने की ताकत है और न कुछ करने की शक्ति। ऐ मेरे रब! मुझे बख्श दे।)

♥ हदिस: जो आदमी ये दुआ पढ़े, उसे माफ़ कर दिया जाता है, फिर यदि वो कोई दुआ करे तो उसकी दुआ क़बूल होती है। और अगर वो उठ खड़ा हो, वुज़ू करे और नमाज़ पढ़े, तो उसकी नमाज़ क़बूल होती है।

(None has the right to be worshipped except Allah, alone without associate, to Him belongs sovereignty and praise and He is over all things wholly capable. How perfect Allah is, and all praise is for Allah, and none has the right to be worshipped except Allah, Allah is the greatest and there is no power nor might except with Allah, The Most High, The Supreme.O my Lord forgive me.)

– (Bukhari fatah Al Baari  3/39, Hadith:1154, Ibne Majah © www.Ummat-e-Nabi.com)
– (Sahih Ibne Majah: 2/335)


3.〘Alhamdu lillahil-lathee AAafanee fee jasadee waradda AAalayya roohee wa-athina lee bithikrih.〙

(सारी प्रशंसा अल्लाह के लिए है, जिसने मेरे बदन को हर प्रकार की बीमारियों से पाक रखा, मेरे प्राण को मेरे शरीर में लौटा दिया और मुझे अपने ज़िक्र की इजाज़त दी।)

(All praise is for Allah who restored to me my health and returned my soul and has allowed me to remember Him.)
– (Tirmizi:5/473 Hadith:3401, Sahih Tirmizi:3/144)

For more Islamic messages kindly download our Mobile App


Duas list

80%
Awesome
  • Design
You might also like

Leave a Reply

avatar