Categories

Babri Masjid: बाबरी मस्जिद गिराने में शामिल रहे बलबीर सिंह और उनके २ दोस्तों ने इस्लाम अपनाकर मस्जिदें बनवाईं

Babri Masjid: बाबरी मस्जिद गिराने में शामिल रहे बलबीर सिंह और उनके २ दोस्तों ने इस्लाम अपनाकर मस्जिदें बनवाईं

Kar Sevak Balbir Singh was part of Babri masjid demolition. He later converted himself to Islam and became Mohammed Aamir.

“They plan, and Allah plans. Surely, Allah is the Best of planners”

# Holy Quran 8:30

[bs-text-listing-2 columns=”1″ title=”Related Post” icon=”” hide_title=”0″ tag=”6347,24053″ count=”30″ order_by=”rand” custom-css-class=”_qoutes”]

✦ Keywords: Babri Masjid,Babri Masjid ayodhya, kaar sevak ayodhya, kaar seva ayodhya, balbir singh kar sevak , balbir singh Mohammed Aamir , babri demolition, ram mandir babri masjid, Mohammed Aamir Balbir, ayodhya ram mandir, ayodhya news today, ayodhya news, babri masjid demolition real video, babri demolition video, babri demolition 1992, babri demolition vajpayee, kar sevak balbir singh, ram mandir news, ram mandir ayodhya, ram mandir latest news

पैगंबर मुहम्मद साहब ﷺ कि भविष्यवाणी वैद और पुराणो मे | Prophet Muhammad (pbuh) in Hindu scripture

पैगंबर मुहम्मद साहब ﷺ कि भविष्यवाणी वैद और पुराणो मे | Prophet Muhammad (pbuh) in Hindu scripture

Last Messenger of God in “Bhawishya Puran

इस पोस्ट में हम आपकी सेवा में कुछ ऐसे प्रमाण पेश कर रहे हैं जिन से सिद्ध होता है कि “कल्कि अवतार” अथवा “नराशंस” जिनके सम्बन्ध में वैदिक धार्मिक ग्रन्थों ने भविष्यवाणी की है वह मुहम्मद (सलल्लाहो अलैहि वसल्लम) ही हैं। क्योंकि कुछ स्थानों पर स्पष्ट रूप में “मुहम्मद” और “अहमद” का वर्णन भी आया है।

∗1. देखिए भविष्य पुराण (323:5:8)

“एक दूसरे देश में एक आचार्य अपने मित्रों के साथ आएगा उनका नाम महामद होगा। वे रेगिस्तानी क्षेत्र में आएगा।”

∗2. श्रीमदभग्वत पुराण: उसी प्रकार श्रीमदभग्वत पुराण (72-2) में शब्द “मुहम्मद” इस प्रकार आया है:

“अज्ञान हेतु कृतमोहमदान्धकार नाशं विधायं हित हो दयते विवेक”

• अर्थात: “मुहम्मद के द्वारा अंधकार दूर होगा और ज्ञान तथा आध्यात्मिकता का प्रचनल होगा।”

∗3. यजुर्वेद (18-31) में है –

“वेदाहमेत पुरुष महान्तमादित्तयवर्ण तमसः प्रस्तावयनाय”

• अर्थात: “वे अहमद महान व्यक्ति हैं, सुर्य के समान अंधेरे को समाप्त करने वाले, उन्हीं को जान कर प्रलोक में सफल हुआ जा सकता है। उसके अतिरिक्त सफलता तक पहूँचने का कोई दूसरा मार्ग नहीं।”

∗4. इति अल्लोपनिषद में अल्लाह और मुहम्मद का वर्णन –

आदल्ला बूक मेककम्। अल्लबूक निखादकम् ।। 4 ।। अलो यज्ञेन हुत हुत्वा अल्ला सूय्र्य चन्द्र सर्वनक्षत्राः ।। 5 ।। अल्लो ऋषीणां सर्व दिव्यां इन्द्राय पूर्व माया परमन्तरिक्षा ।। 6 ।। अल्लः पृथिव्या अन्तरिक्ष्ज्ञं विश्वरूपम् ।। 7 ।। इल्लांकबर इल्लांकबर इल्लां इल्लल्लेति इल्लल्लाः ।। 8 ।। ओम् अल्ला इल्लल्ला अनादि स्वरूपाय अथर्वण श्यामा हुद्दी जनान पशून सिद्धांतजलवरान् अदृष्टं कुरु कुरु फट ।। 9 ।। असुरसंहारिणी हृं द्दीं अल्लो रसूल महमदरकबरस्य अल्लो अल्लाम्इल्लल्लेति इल्लल्ला ।। 10 ।। इति अल्लोपनिषद

• अर्थात: ‘‘अल्लाह ने सब ऋषि भेजे और चंद्रमा, सूर्य एवं तारों को पैदा किया। उसी ने सारे ऋषि भेजे और आकाश को पैदा किया। अल्लाह ने ब्रह्माण्ड (ज़मीन और आकाश) को बनाया। अल्लाह श्रेष्ठ है, उसके सिवा कोई पूज्य नहीं। वह सारे विश्व का पालनहार है। वह तमाम बुराइयों और मुसीबतों को दूर करने वाला है। मुहम्मद अल्लाह के रसूल (संदेष्टा) हैं, जो इस संसार का पालनहार है। अतः घोषणा करो कि अल्लाह एक है और उसके सिवा कोई पूज्य नहीं।’’

इस श्लोक का वर्णन करने के पश्चात डा0 एम. श्रीवास्‍तव अपनी पुस्तक “हज़रत मुहम्‍मद (सलल्लाहो अलैहि वसल्लम) और भारतीय धर्मग्रन्‍थ” मे लिखते हैं:
(बहुत थोड़े से विद्वान, जिनका संबंध विशेष रूप से आर्यसमाज से बताया जाता है, अल्लोपनिषद् की गणना उपनिषदों में नहीं करते और इस प्रकार इसका इनकार करते हैं, हालांकि उनके तर्कों में दम नहीं है। इस कारण से भी वैदिक धर्म के अधिकतर विद्वान और मनीषी अपवादियों के आग्रह पर ध्यान नहीं देते। गीता प्रेस (गोरखपुर) का नाम वैदिक धर्म के प्रमाणिक प्रकाशन केंद्र के रूप में अग्रगण्य है। यहां से प्रकाशित ‘‘कल्याण’’ (हिन्दी पत्रिका) के अंक अत्यंत प्रामाणिक माने जाते हैं। इसकी विशेष प्रस्तुति ‘‘उपनिषद अंक’’ में 220 उपनिषदों की सूची दी गई है, जिसमें अल्लोपनिषद् का उल्लेख 15वें नंबर पर किया गया है। 14वें नंबर पर अमत बिन्दूपनिषद् और 16वें नंबर पर अवधूतोपनिषद् (पद्य) उल्लिखित है। डा.वेद प्रकाश उपाध्याय ने भी अल्लोपनिषद को प्रामाणिक उपनिषद् माना है।

– (‘देखिए: वैदिक साहित्य: एक विवेचन, प्रदीप प्रकाशन, पृ. 101, संस्करण 1989।)

[bs-text-listing-2 columns=”1″ title=”Related Post” icon=”” hide_title=”0″ tag=”6347,24053″ count=”30″ order_by=”rand” custom-css-class=”_qoutes”]
गैरमुस्लिम टैक्सी ड्राइवर के इस्लाम लाने की दास्ताँ

गैरमुस्लिम टैक्सी ड्राइवर के इस्लाम लाने की दास्ताँ

वाकिया: हिन्दू टैक्सी ड्राईवर का ईमान लाना | Maulana Kaleem Siddiqui | Story Hindu Taxi Driver Accept ISLAM who hate Muslims | ہندو کا قبول اسلام

[bs-text-listing-2 columns=”1″ title=”Related Post” icon=”” hide_title=”0″ tag=”6347,24053″ count=”30″ order_by=”rand” custom-css-class=”_qoutes”]
Hindu RSS Activist Revert to Islam : Mai Ne Islam Kese Qabol Kiya Bro Umar Rao | इस्लाम के विरोधी भाई ने अपनाया इस्लाम | जानिए एक इबरतनाक दास्ताँ

इस्लाम के विरोधी भाई ने अपनाया इस्लाम | जानिए एक इबरतनाक दास्ताँ

इस्लाम की बद्दनामी के लिए दिन रात बेशुमार मनसूबे किये जाते है, लेकीन वो लोग भूल जाते है के इस्लाम कायनात के रब के उसूलो का नाम है, लिहाजा ये लोग जितनी भी चाले चल ले इनकी हर चाल लोगो को अल्लाह दीन की तरफ बुला रही है, ऐसा ही एक वाकिया हमारे गैरमुस्लिम भाई के साथ हुआ जब उन्होने अपनाया इस्लाम और कर दी अपनी आप बीती बयांन।

*बराए मेहरबानी इस विडियो को देखे और इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर कर हमारे उन गैरमुस्लिम भाइयो तक पोहचाने की कोशिश करे जो मासूम है और सच्चे रब की राह पर चलना चाहते है लेकिन उन्हें बताने काम अब तक हमने नहीं किया,. अल्लाह हमे कहने सुनने से ज्यादा अमल की तौफीक दे।

[bs-text-listing-2 columns=”1″ title=”Related Post” icon=”” hide_title=”0″ tag=”6347,24053″ count=”30″ order_by=”rand” custom-css-class=”_qoutes”]
Ex Jain Brother Vijay Kumar Jain Accepted Islam विजय कुमार जैन ने अपनाया इस्लाम! रखा अब्दुल वाहिद अपना नाम

विजय कुमार जैन ने अपनाया इस्लाम! रखा अब्दुल वाहिद अपना नाम

जानिए – पूर्व जैन धर्म से इस्लाम लाने की दास्तान – विजय कुमार जैन से अब्दुल वाहिद तक का इब्रतनाक वाकिया | Janiye – Ex Jain Brother ke Islam laane ki dasta – Vijay Kumar Jain se Abdul Wahid tak ka Ibratnaak Wakiya

[bs-text-listing-2 columns=”1″ title=”Related Post” icon=”” hide_title=”0″ tag=”6347,24053″ count=”30″ order_by=”rand” custom-css-class=”_qoutes”]
16 Saal ke Researh ke baad Isayi Padri ne Apnaya Islam 16 साल के अध्यन के बाद ईसाई पादरी ने अपनाया इस्लाम

16 साल के अध्ययन के बाद ईसाई पादरी मैथ्यू पाल गिल ने अपनाया इस्लाम

पूर्व ईसाई पादरी मैथ्यू पाल गिल ने इस्लाम स्वीकार किया और मौलाना सलमान गिल बन गए। उन्होंने 16 साल की गहन शोध के बाद इस्लाम को स्वीकार किया। उन्होंने सच्चाई की खोज में विभिन्न धर्मों के विभिन्न धार्मिक ग्रंथों का अध्ययन किया और अल्हम्दुलिल्लाह उन्हें अपने सच्चे रब (अल्लाह) का वास्तविक धर्म यानी इस्लाम मिल गया है।

*बराए मेहरबानी इस विडियो को ज्यादा से ज्यादा शेयर करने में हमारा तावून करे |
– जज़ाकअल्लाहु खैरण कसीरा !

[bs-text-listing-2 columns=”1″ title=”Related Post” icon=”” hide_title=”0″ tag=”6347,24053″ count=”30″ order_by=”rand” custom-css-class=”_qoutes”]
Galatiya Nikalne ke Maksad se Quran ka padhna meri hidayat ki wajah bana: Dinesh Sinh, गलतियाँ निकालने के मक्सद से कुरान का पढना, बना मेरी हिदायत की वजह: पूर्व दिनेश मोहन सिंह अब मुजाहिद उल इस्लाम

गलतियाँ निकालने के मक्सद से कुरान का पढना, बना मेरी हिदायत की वजह: पूर्व दिनेश मोहन सिंह अब मुजाहिद उल इस्लाम

कुरान ईश्वरीय ग्रन्थ है इसमें कोई संदेह नहीं, जब खुद श्रुष्टि का रचयेता अपने ग्रन्थ में सम्पूर्ण मानवजाति से कहता है के “ये कुरान मेरा अवार्तरित ग्रन्थ है, हे मानवों ! तो तुम्हारे जीबन और मृत्यु के पश्चात् जो होगा इसका वर्णन हम इस कुरान में कर रहे है,. लेकिन अगर तुम्हे इसमें कोई संदेह हो तो इसे पढो और इसमें से गलतियाँ निकाल कर बता दो,.”

*यह चैलेंज अल्लाह ने कुरान के माध्यम से सम्पूर्ण मानवजाति को दिया, इसी चलेंगे के जीते जागते नमूने हम आये रोज़ दुनिया भर में इस्लाम के अपनाने वालो की तादाद में बढ़ोतरी के माध्यम से देख ही रहे है, दिनेश भाई की इस्लाम अपनाने की दास्ताँ भी हम सब के लिए प्रेरणायोग्य है, कृपया कर इस विडियो को ज्यादा से ज्यादा शेयर कर अपने गैरमुस्लिम भाइयो तक पोह्चाये. ताकि उनमे भी कुरान पढने की आस्था जाग जाये, अँधेरे से उजाले की ओर दिनेश भाई अब मुजाहिद उल इस्लाम

[bs-text-listing-2 columns=”1″ title=”Related Post” icon=”” hide_title=”0″ tag=”6347,24053″ count=”30″ order_by=”rand” custom-css-class=”_qoutes”]
शराब की हुरमत पर नवमुस्लिम खातून की इस्लाम लाने की दास्ताँ

शराब की हुरमत पर नवमुस्लिम खातून की इस्लाम लाने की दास्ताँ

अमेरिका जैसे मुल्क में एक मुसलमान अपने इमांन की हिफाज़त करता हुआ शराब से इंकार करता है , उसकी यही बात एक गैरमुस्लिम खातून को सोचने पर मजबूर करती है , तहकीक के बाद वो कुरनो सुन्नत के पाकीज़ा खवानिन से मुतासिर होकर ईमान लाती है, तफ्सीली जानकारी और जो नसीहते इसमें हमारे लिए वाजेह होती है वो जानने के लिए इस विडियो का मुताला करे और ज्यादा से ज्यादा शेयर करे।
जज़कल्लाहु खैरण कसीरा।

[bs-text-listing-2 columns=”1″ title=”Related Post” icon=”” hide_title=”0″ tag=”6347,24053″ count=”30″ order_by=”rand” custom-css-class=”_qoutes”]