कमला सुरैया | Dr. Kamala Das surayya converted to Islam in 1999

इस्लाम में महिलाओं के अधिकार से प्रेरित हो कर डॉ. कमला दास ने अपनाया इस्लाम! रखा कमला सुरैया नाम

“मुझे हर अच्छे मुसलमान की तरह इस्लाम की एक-एक शिक्षा से गहरी मुहब्बत है। मैंने इसे दैनिक जीवन में व्यावहारिक

इस्लाम आतंक या आदर्श - स्वामी लक्ष्मीशंकराचार्य

इस्लाम आतंक या आदर्श – स्वामी लक्ष्मीशंकराचार्य

इस्लाम आतंक या आदर्श

इस्लाम आतंक या आदर्श – यह पुस्तक कानपुर के स्वामी लक्ष्मीशंकराचार्य जी ने लिखी है।

  • इस पुस्तक में स्वामी लक्ष्मी शंकराचार्य ने इस्लाम के अपने अध्ययन को बखूबी पेश किया है।
  • स्वामी लक्ष्मी शंकराचार्य के साथ दिलचस्प वाकिया जुड़ा हुआ है।

वे अपनी इस पुस्तक की भूमिका में लिखते हैं- मेरे मन में यह गलत धारणा बन गई थी कि,
इतिहास में हिन्दु राजाओं और मुस्लिम बादशाहों के बीच जंग में हुई मारकाट तथा आज के दंगों
और आतंकवाद का कारण इस्लाम है। मेरा दिमाग भ्रमित हो चुका था।

  • इस भ्रमित दिमाग से हर आतंकवादी घटना मुझे इस्लाम से जुड़ती दिखाई देने लगी।
    इस्लाम, इतिहास और आज की घटनाओं को जोड़ते हुए मैंने एक पुस्तक लिख डाली-
    ‘इस्लामिक आंतकवाद का इतिहास’ जिसका अंग्रेजी में भी अनुवाद हुआ।

पुस्तक में स्वामी लक्ष्मीशंकराचार्य आगे लिखते हैं –
जब दुबारा से मैंने सबसे पहले मुहम्मद (सल्ललाहु आलैही वसल्लम) की जीवनी पढ़ी।

  • जीवनी पढऩे के बाद इसी नजरिए से जब मन की शुद्धता के साथ कुरआन मजीद शुरू से अंत तक पढ़ी,
    तो मुझे कुरआन मजीद के आयतों का सही मतलब और मकसद समझने में आने लगा।
  • सत्य सामने आने के बाद मुझ अपनी भूल का अहसास हुआ कि मैं अनजाने में भ्रमित था
    और इस कारण ही मैंने अपनी उक्त किताब- ‘इस्लामिक आतंकवाद का इतिहास’ में
    आतंकवाद को इस्लाम से जोड़ा है जिसका मुझे खेद है

लक्ष्मी शंकराचार्य अपनी पुस्तक की भूमिका के अंत में लिखते हैं –

मैं अल्लाह से, पैगम्बर मुहम्मद (सल्ललल्लाहु अलेह वसल्लम) से और
सभी मुस्लिम भाइयों से सार्वजनिक रूप से माफी मांगता हूं
तथा अज्ञानता में लिखे व बोले शब्दों को वापस लेता हूं। सभी जनता से मेरी अपील है कि
‘इस्लामिक आतंकवाद का इतिहास’ पुस्तक में जो लिखा है उसे शून्य समझे।

  • एक सौ दस पेजों की इस पुस्तक-इस्लाम आतंक? या आदर्श में शंकराचार्य ने
    खास तौर पर कुरआन की उन चौबीस आयतों का जिक्र किया है
    जिनके गलत मायने निकालकर इन्हें आतंकवाद से जोड़ा जाता है।
  • उन्होंने इन चौबीस आयतों का अच्छा खुलासा करके यह साबित किया है कि
    किस साजिश के तहत इन आयतों को हिंसा के रूप में दुष्प्रचारित किया जा रहा है।
  • स्वामी लक्ष्मी शंकराचार्य ने अपनी पुस्तक में मौलाना को लेकर इस तरह के विचार व्यक्त किए हैं:
  • इस्लाम को नजदीक से ना जानने वाले भ्रमित लोगों को लगता है कि
    मुस्लिम मौलाना, गैर मुस्लिमों से घृणा करने वाले अत्यन्त कठोर लोग होते हैं।
    लेकिन बाद में जैसा कि मैंने देखा, जाना और उनके बारे में सुना,
    उससे मुझे इस सच्चाई का पता चला कि मौलाना कहे जाने वाले मुसलमान
    व्यवहार में सदाचारी होते हैं, अन्य धर्मों के धर्माचार्यों के लिए अपने मन में सम्मान रखते हैं।
  • साथ ही वह मानवता के प्रति दयालु और सवेंदनशील होते हैं।
    उनमें सन्तों के सभी गुण मैंने देखे। इस्लाम के यह पण्डित आदर के योग्य हैं जो
    इस्लाम के सिद्धान्तों और नियमों का कठोरता से पालन करते हैं,
    गुणों का सम्मान करते हैं। वे अति सभ्य और मृदुभाषी होते हैं।
  • ऐसे मुस्लिम धर्माचार्यों के लिए भ्रमवश मैंने भी गलत धारणा बना रखी थी।
  • उन्होंने किताब में ना केवल इस्लाम से जुड़ी गलतफहमियों दूर करने की
    बेहतर कोशिश की है बल्कि इस्लाम को अच्छे अंदाज में पेश किया है।
  • अब तो स्वामी लक्ष्मीशंकराचार्य देश भर में घूम रहे हैं और लोगों की
    इस्लाम से जुड़ी गलतफहमियां दूर कर इस्लाम की सही तस्वीर लोगों के सामने पेश कर रहे हैं।
Babri Masjid: बाबरी मस्जिद गिराने में शामिल रहे बलबीर सिंह और उनके २ दोस्तों ने इस्लाम अपनाकर मस्जिदें बनवाईं

Babri Masjid: बाबरी मस्जिद गिराने में शामिल रहे बलबीर सिंह और उनके २ दोस्तों ने इस्लाम अपनाकर मस्जिदें बनवाईं

Kar Sevak Balbir Singh was part of Babri masjid demolition. He later converted himself to Islam and became Mohammed Aamir.

“They plan, and Allah plans. Surely, Allah is the Best of planners”

# Holy Quran 8:30

[bs-text-listing-2 columns=”1″ title=”Related Post” icon=”” hide_title=”0″ tag=”6347,24053″ count=”30″ order_by=”rand” custom-css-class=”_qoutes”]

✦ Keywords: Babri Masjid,Babri Masjid ayodhya, kaar sevak ayodhya, kaar seva ayodhya, balbir singh kar sevak , balbir singh Mohammed Aamir , babri demolition, ram mandir babri masjid, Mohammed Aamir Balbir, ayodhya ram mandir, ayodhya news today, ayodhya news, babri masjid demolition real video, babri demolition video, babri demolition 1992, babri demolition vajpayee, kar sevak balbir singh, ram mandir news, ram mandir ayodhya, ram mandir latest news

Ex Jain Brother Vijay Kumar Jain Accepted Islam विजय कुमार जैन ने अपनाया इस्लाम! रखा अब्दुल वाहिद अपना नाम

विजय कुमार जैन ने अपनाया इस्लाम! रखा अब्दुल वाहिद अपना नाम

जानिए – पूर्व जैन धर्म से इस्लाम लाने की दास्तान – विजय कुमार जैन से अब्दुल वाहिद तक का इब्रतनाक वाकिया | Janiye – Ex Jain Brother ke Islam laane ki dasta – Vijay Kumar Jain se Abdul Wahid tak ka Ibratnaak Wakiya

[bs-text-listing-2 columns=”1″ title=”Related Post” icon=”” hide_title=”0″ tag=”6347,24053″ count=”30″ order_by=”rand” custom-css-class=”_qoutes”]

16 Saal ke Researh ke baad Isayi Padri ne Apnaya Islam 16 साल के अध्यन के बाद ईसाई पादरी ने अपनाया इस्लाम

16 साल के अध्ययन के बाद ईसाई पादरी मैथ्यू पाल गिल ने अपनाया इस्लाम

पूर्व ईसाई पादरी मैथ्यू पाल गिल ने इस्लाम स्वीकार किया और मौलाना सलमान गिल बन गए। उन्होंने 16 साल की गहन शोध के बाद इस्लाम को स्वीकार किया। उन्होंने सच्चाई की खोज में विभिन्न धर्मों के विभिन्न धार्मिक ग्रंथों का अध्ययन किया और अल्हम्दुलिल्लाह उन्हें अपने सच्चे रब (अल्लाह) का वास्तविक धर्म यानी इस्लाम मिल गया है।

*बराए मेहरबानी इस विडियो को ज्यादा से ज्यादा शेयर करने में हमारा तावून करे |
– जज़ाकअल्लाहु खैरण कसीरा !

[bs-text-listing-2 columns=”1″ title=”Related Post” icon=”” hide_title=”0″ tag=”6347,24053″ count=”30″ order_by=”rand” custom-css-class=”_qoutes”]

मोहम्मद साहब (स.) का संशिप्त जीवन परिचय और आपके मिशन की कुछ झलकिया

मोहम्मद साहब (स.) का संशिप्त जीवन परिचय और आपके मिशन की कुछ झलकिया

*अल्लाह के आखरी पैगम्बर मोहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम) का संशिप्त जीवन परिचय और आपके मिशन की कुछ झलकिया ,..
– इस स्पीच में हम इस्लाम के अंतिम संदेष्ठा पैगम्बर मोहम्मद (स.) साहब की जीवनी का संशिप्त में परिचय करेंगे ,. वैसे तो आपकी जीवनी का अभ्यास एक स्पीच में करना बिलकुल मुमकिन नहीं , लिहाजा हम इस स्पीच में कुछ अहम बातो पर ही रौशनी डालने की कोशिश कर रहे है जो की सारे संसार के लिए पैगम्बर मोहम्मद साहब की तरफ से महत्वपूर्ण उपहार है ,…
*बराए मेहरबानी इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करने में हमारी मदद करे ..
– जजाक अल्लाहु खैरण कसीरा !

( Mohammad Sahab (SAW) ka Jivan Parichay )
हजरत मोहम्मद साहब की जीवनी, हजरत मोहम्मद, हज़रत मुहम्मद, सिरत-उन-नबी, विश्व्नायक मोहम्मद साहब, विश्व नायक मोहम्मद साहब, मोहम्मद साहब की जीवनी, मोहम्मद साहब का जीवन परिचय, मोहम्मद साहब का जीवन, मोहम्मद साहब का इतिहास, मोहम्मद साहब, मोहम्मद पैगम्बर, मोहम्मद पैगंबर, मुहम्मद साहब की जीवनी, मुहम्मद साहब का इतिहास, मुहम्मद साहब अंतिम प्रेषित, मुहम्मद साहब, पैगम्बर मोहम्मद साहब, पैगम्बर मोहम्मद, पैगम्बर मुहम्मद कल्कि अवतार, पैगम्बर मुहम्मद, कल्कि अवतार और मुहम्मद साहब, कल्कि अवतार, कलकी अवतार, अंतिम ऋषि मुहम्मद साहब, written urdu speeches on seerat e nabvi, written speech on seerat un nabi in urdu, written speech on seerat un nabi in english, written speech on seerat un nabi, who was the prophet muhammad, who was prophet muhammad, who was prophet mohammed, who was muhammed, who was muhammad, who was mohammed, who was mohammad, what is seerat un nabi, urdu speech on seerat un nabi, urdu seerat un nabi, the seerah of the prophet muhammad, the prophets of islam, the prophet pbuh, the prophet muhammed, the prophet muhammad peace be upon him, the prophet muhammad life, the prophet muhammad biography, the prophet muhammad, the prophet mohammed, the prophet mohammad, the prophet mohamed, the life of the prophet muhammad, the life of the prophet mohammed, the life of the prophet, the life of prophet muhammed, the life of prophet muhammad pbuh, the life of prophet muhammad, the life of prophet mohammed, the life of prophet mohammad, the life of muhammed, the life of muhammad, the life of mohammed, the life of mohammad, the life of holy prophet muhammad pbuh, the life and teachings of muhammad, the history of prophet muhammed, the history of prophet muhammad, the history of prophet mohammed, the history of muhammad, the history of mohammed, the biography of prophet muhammad, the biography of prophet mohammed, the biography of muhammad, the biography of mohammed, taqreer on seerat un nabi, speech seerat un nabi urdu, speech on seerat un nabi in urdu pdf, speech on seerat un nabi in urdu, speech on seerat un nabi in english, speech on seerat un nabi, speech on seerat e nabvi in urdu, speech on seerat e nabvi in english, siratun nabi urdu, siratun nabi in urdu, siratun nabi, sirate rasul, sirate rasool, sirate nabi, sirat un nabi, sirat rasoul, sirat nabi muhammad, sirat nabi mohamed, sirat nabi, sirat e rasool, sirat e mustafa, sirat al nabi muhammad in urdu, sirat al nabi in urdu, sirat al nabi, short speech on seerat un nabi in english, seerat un nabi urdu speech, seerat un nabi urdu, seerat un nabi speech in urdu written, seerat un nabi speech in urdu pdf, seerat un nabi speech in urdu, seerat un nabi speech in english written, seerat un nabi speech in english, seerat un nabi speech, seerat un nabi saw in urdu, seerat un nabi saw, seerat un nabi quiz in urdu, seerat un nabi in urdu speech, seerat un nabi in urdu read online, seerat un nabi in urdu, seerat un nabi in hindi, seerat un nabi in english speech, seerat un nabi conference, seerat un nabi bayan, seerat un nabi, seerat nabvi, seerat nabi urdu, seerat nabi saw in urdu, seerat nabi saw, seerat nabi in urdu, seerat nabi, seerat muhammad, seerat hazrat muhammad pbuh in urdu, seerat e tayyaba in urdu, seerat e nabvi urdu, seerat e nabvi in urdu pdf, seerat e nabvi in urdu, seerat e nabvi book in urdu, seerat e nabvi, seerat e nabi saw in urdu, seerat e nabi saw, seerat e nabi in urdu, seerat e nabi, seerat e mustafa urdu, seerat e mustafa in urdu, seerat e mustafa, seerat e muhammad saw in urdu, seerat e muhammad in urdu, saying of prophet muhammad, prophets of islam, prophet pbuh, prophet of muhammad, prophet muhammed, prophet muhammad saying, prophet muhammad saw, prophet muhammad pbuh, prophet muhammad life history, prophet muhammad history, prophet muhammad biography, prophet muhammad, prophet muhamed, prophet muhamad, prophet mohammed saw, prophet mohammed peace be upon him, prophet mohammed life history, prophet mohammed history, prophet mohammed, prophet mohammad, prophet mohamed, prophet mohamad, prophet life, prophet islam, prophet hazrat muhammad, poetry on seerat un nabi in urdu, our prophet, nabi muhammad saw history, nabi muhammad history urdu, nabi mohammed, muslim prophets, muslim prophet muhammad, muslim muhammad, muslim mohammed, muhhamad, muhammed the prophet, muhammed saws, muhammed saw, muhammed prophet, muhammed pbuh, muhammed nabi history, muhammed nabi, muhammad’s life summary, muhammads life, muhammad the prophet of islam, muhammad the prophet biography, muhammad the prophet, muhammad saw, muhammad sahab in hindi, muhammad sahab hindi, muhammad prophet biography, muhammad prophet, muhammad peace be upon him life, muhammad pbuh, muhammad of islam, muhammad nabi, muhammad muslim, muhammad life, muhammad islam prophet, muhammad islam,

muhammad history, muhammad biography, muhammad and islam, muhammad, mohammed the prophet, mohammed saw, mohammed pbuh, mohammed muslim, mohammed islam, mohammed history, mohammed biography, mohammed and islam, mohammad the prophet, mohammad shahab hindi, mohammad sahab history in hindi, mohammad sahab biography in hindi, mohammad rasool allah history in hindi, mohammad prophet, mohammad pbuh, mohammad nabi prophet, mohamed prophet, mohamed nabi history, mohamed life, mohamed history, mohamad prophet, messenger muhammad, life prophet muhammad pbuh, life of the prophet muhammad, life of the prophet, life of prophet muhammed, life of prophet muhammad, life of prophet mohammed, life of prophet mohammad, life of prophet mohamed, life of prophet, life of muhammed, life of muhammad, life of mohammed, life history of prophet muhammad in hindi, life history of prophet muhammad, life history of prophet mohammed, life history of muhammad, life history of hazrat muhammad saw in urdu, life and teachings of muhammad, life about prophet muhammad, islam the prophet, islam prophets, islam prophet muhammad, islam muhammad, islam, introduction of prophet muhammad, information of prophet muhammad, information about prophet muhammad, information about prophet mohammed, information about muhammad, importance of seerat un nabi, holy prophet muhammad peace be upon him, history prophet muhammad, history prophet mohammed, history of the prophet muhammad, history of prophet muhammed, history of prophet muhammad in hindi, history of prophet muhammad, history of prophet mohammed, history of prophet mohammad, history of prophet mohamed, history of nabi muhammad saw in urdu, history of nabi muhammad, history of muhammad, history of mohammed, history of mohammad, history of mohamed, history of islam prophet muhammad, history of hazrat muhammad saw in urdu, history of hazrat muhammad saw, history of hazrat muhammad in hindi, history nabi muhammad saw, history muhammad, history about prophet muhammad, history about muhammad the prophet, hazrat prophet muhammad, hazrat muhammad saw ki seerat in urdu, hazrat muhammad saw ki seerat,
hazrat muhammad saw history in urdu, hazrat muhammad saw, hazrat muhammad sallallahu alaihi wasallam history in hindi, hazrat muhammad sahab in hindi, hazrat muhammad pbuh life history in urdu, hazrat muhammad pbuh ki seerat in urdu, hazrat muhammad pbuh in urdu in history, hazrat muhammad pbuh, hazrat muhammad mustafa saw history in urdu, hazrat muhammad ki seerat in urdu, hazrat muhammad ki seerat, hazrat muhammad history, hazrat muhammad, hazrat mohammed, hazrat mohammad pbuh, english speech on seerat un nabi, early life of muhammad, biography prophet muhammad, biography on muhammad, biography of the prophet muhammad saw, biography of the prophet muhammad, biography of the prophet, biography of prophet saw, biography of prophet muhammed, biography of prophet muhammad, biography of prophet mohammed, biography of prophet mohammad, biography of nabi muhammad saw, biography of nabi muhammad, biography of muhammad pbuh, biography of muhammad, biography of mohammed, biography of hazrat muhammad, biography nabi muhammad, biography muhammad, biography about prophet muhammad, about the prophet muhammad, about prophet muhammad saw, about prophet muhammad, about prophet mohammed, about prophet, about muhammad the prophet, about muhammad prophet

Technology Industries aaj wajud me nahi hoti ! agar Musalman Scientist Na Hotey – Mrs Carlton Fiorina

“ट्विन टावर के हादसे के २ हफ्ते बाद ही जब इस्लाम पर सारी दुनिया दहशतगर्दी के इलज़ामात लगा रही थी तब एक ईसाई खातून जो की HP की CEO थी वो अपने स्पीच में “इस्लामी सिविलाइज़ेशन” के जो एहसानात है इंसानियत के लिए वो याद दिलाते हुए सबको हैरान कर देती है। आईये उर्दू तर्जुमे के साथ हिंदी में उनकी स्पीच का मुताला करे | जजाक अल्लाहु खैरण कसीरा!

❝ टेक्नोलॉजी इंडस्ट्रीज आज वजूद में नहीं होती! अगर मुसलमान साइंटिस्ट न होते ❞

– मिस कार्लटन फिओरिना।

एक मशहूर और मारूफ शख्सियत “मिस. कार्लेटन फिओरिना” जो के H.P. की सीईओ थी, और इस खातून ने एक स्पीच दी थी जो H.P की “औल वर्ल्डवाइड कंपनी मैनेजर्स की मीटिंग” थी।

यह स्पीच उसने दी है २६ सितम्बर २००१ को यानी ११ सितम्बर २००१ को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर का वाकिया हुआ जिसपर मुसलमानो पर इलज़ाम पर इंल्जाम लगाये जा रहे थे।

उनकी स्पीच इंग्लिश में थी हम उसका तर्जुमा यहाँ बताने की कोशिश करते है। यह स्पीच बहुत हिम्मत बहुत जसारत की चीज़ है! जहाँ मुसलमान अपने आप को मुसलमान कहने से यहाँ शर्मा रहे थे जो वाकिया वहां हुआ! ये खातून जो ईसाई है इसने “ट्विन टावर” के बलास्ट के २ हफ्ते बाद एक तक़रीर में दुनिया से ऐलान किया और कहा और उसने शुरुआत यू की:

तर्जुमा:

  • एक ज़माना था एक क़ौम गुज़री है जो दुनिया में सबसे बेहतरीन क़ौम थी (अभी उसने नाम नहीं लिया) ,
  • ये वो कौम थी जिसने एक ऐसी हुकूमत कायम की जो एक बर्रे आज़म से दूसरे बर्रे आज़म और एक पहाड़ी इलाक़े से दूसरे इलाक़े तक जंगलात और तमाम दीगर ज़मीनात इनके पास थी।
  • इनके हुकूमत के अंदर हज़ारो और लाखो लोग रहते थे जो मुख्तलिफ मज़ाहिब के मानने वाले थे।
  • इसकी ज़ुबान दुनिया की आलमी जुबान बन गयी थी और बहुत से क़ौम के बीच में ताल्लुकात कायम करने की वजह बन गई थी इसकी ज़ुबान।
  • इसके अंदर जो फौजे थी कई मुख्तलीफ़ मुमालिकात से थे और जो हिफाज़त इन्होने दी ऐसी हिफाज़त दुनिया में इस से पहले नहीं देखने को मिली कहीं और तिजारत साउथ अमेरिका से लेकर चीन तक और तमाम बीच के इलाक़ो तक फैली थी।
  • यह जो क़ौम थी जिस चीज़ से चलती थी वो इनके खयालात थे, इनके इन्क्शाफात थे।
  • इनके इंजीनियर्स ने ऐसी इमारते बनाई जो ज़मीन के कशिश (कुव्वत) के खिलाफ थे यानी बड़ी बड़ी इमारतें तामीर करते थे।
  • इनके मैथमेटिक्स जो थे इन्होने अलजेब्रा और एल्गोरिथम जैसे सब्जेक्ट की बुनियाद डाली जो आगे चलकर कंप्यूटर के बनाने इनक्रीप्शन की टेक्नोलॉजी ईजाद हो सकी।
  • इनके जो तबीब डॉक्टर्स थे जो इंसानी जिस्मो को जांचते और नए नए इलाज निकालते उन बीमारियो और कमज़ोरियों के।
  • इनके जो इल्म-ए-फाल्कियत रखने वाले लोग थे वो गौर करते ज़मीन और आसमान में और तारो को नाम देते और यही जरिया बनी आज के दौर के सैटेलाइट और दीगर स्पेस एक्सप्लोरेशन का,.. जो आज हम इन्क्शाफात कर रहे है उसकी वजह बनी।
  • इनके जो मुसन्निफ़ थे वो किताब लिखते थे कहानिया लिखते थे कहानिया जो जसारत, हिम्मत, ताक़त क़ुव्वत की मोहब्बत की।
  • इनके जो शायर थे वो मोहब्बत के बारे में शायरियां लिखते! यह वो ज़माना था जब दूसरे इसके कहने के लिए बहुत ज़्यादा ख़ौफ़ज़दा हुआ करते थे।
  • जब दूसरे लोग नयी इन्काशाफ़त के बारे में सोचना भी उनके लिए खौफ था यह क़ौम तो सोच पे जिया करती थी।
  • जब दुनिया इस चीज़ पर आ चुकी थी की पिछले क़ौम का इल्म मिटा दिया जाए इस क़ौम ने वो इल्म बाकी रखा और लोगों तक पहुँचाया।

बहुत सारी चीज़ जो आज की हम दुनिया में देख रहे है, इस्तेमाल कर रहे है, यह बहुत सारी चीज़ उस क़ौम की देन है जिसके बारे में मैं बात कर रही हूँ, वो “इस्लामिक वर्ल्ड” है,.. इस्लामी क़ौम है, मुसलमान है!! जिसने आठवीं सदी से लेकर सोलवीं सदी तक दुनिया को मशाल-राह दिखाई और इसके अंदर उस्मानी खलीफा और और बग़दाद और शाम और क़ाहेरा, मिस्र की लाइब्रेरीज कुतुबखाने और अच्छे हुक़ुमराह जैसे की “सुलैमान दी मग्निफिसेंत” भी मौजूद थे।

आगे वो कहती है की-
बहुत सारी चीज़ जो हमको मिली है इस क़ौम से, हाला के हम जानते है, फिर भी हम इनके अहसानमंद नहीं है ,..
और आगे वो कहती है की:
“इनकी यह देन आज हमारी ज़िंदगी का हिस्सा है, और टेक्नोलॉजी इंडस्ट्रीज आज वजूद में नहीं होती! अगर मुसलमान साइंटिस्ट न होते”

****
क्यूंकि उसका IT (इन्फोर्मेशन टेक्नोलॉजी) से ताल्लुक़ था! वो H.P की सीईओ थी उसने सिर्फ यह बताने के लिए की आज हम इस कंपनी के ज़रिये जिसका हम फायदा उठा रहे है यह किसी का अहसान है हम पर जिस क़ौम ने हमे दिया है, वो मुसलमान थे।

* तो अंदाज़ा लगाइये किस जसारत से उसने “ट्विन टॉवर के ब्लास्ट” के बाद मुसलमान का नाम लेना बुरी बात समझी जा रही थी उसी माहोल में अमेरिका में इस नोनमुस्लिम खातून ने स्पीच दी और कहा की यह क़ौम तो इंसानियत के फायदे के लिए आई थी।

– (“औल वर्ल्डवाइड कंपनी मैनेजर्स की मीटिंग H.P.” , २६ सितम्बर २००१)

NonMuslim Yuwak ne Marwadi me Likhi Paigamber Muhammad (ﷺ) ki Jivani

राजस्थान में कोलसिया गांव के एक हिंदू युवक राजीव शर्मा (28) ने धार्मिक सद्भाव की अनूठी मिसाल पेश की है।
राजीव ने बताया कि वे गांव का गुरुकुल नाम से एक ऑनलाइन लाइब्रेरी चलाते हैं। अगर कलम की ताकत का सही इस्तेमाल हो तो उसकी स्याही भाईचारे और मुहब्बत की जड़ों को सींचती है।

किसी भी धर्म का दूसरे से कोई विरोध नहीं है। हिंदू धर्म संपूर्ण विश्व को अपना परिवार मानता है और इस्लाम भाईचारे का पैगाम देता है। इसलिए लोगों में एक दूसरे के प्रति समझ बढऩी चाहिए ताकि नफरत के सौदागर कभी सफल न हो सकें।

राजीव जी ने हाल ही में पैगम्बर मुहम्मद साहब (स.) प् मारवाड़ी में एक किताब लिखी है ! साहित्य की भाषा में इसे जीवनी कहा जा सकता है , लेकिन उनका मानना है की मुहम्मद साहब (स.) का जो स्तर है, उसे किसी भी व्यक्ति के लीए किताब के पन्नो में समेट पाना मुमकिन नहीं | मुहम्मद साहब (स.) के सम्मान में राजीव जी का यह एक छोटा सा प्रयास है|

मोहम्मद साहब (स.) पर पहली ऐसी ईबुक है जो किसी हिन्दू ने मारवाड़ी में लिखी है| साथ ही में वो ये भी कहते है के इससे हम मुहम्मद साहब (स.) के पैगाम को जानने के साथ ही एक-दूसरे को भी अच्छी तरह जान सकेंगे , मुल्क में अमन की फिजा कायम होगी |

राजीव शर्मा जी के इस जस्बे के लिए हमारी तहे दिल से दुआ है के ! अल्लाह तआला राजीव भाई को हिदायत से सरफ़राज़ करे ! उनकी जेद्दो-जेहद को कुबूल फरमाए, और उन्हें दुनिया और अखिरत के तमाम खैर से नवाज़े | …. अमीन …

*Rajeev Sharma has written Prophet Muhammad’s (PBUH) Biography

क्या इस्लाम औरतों को पर्दे में रखकर उनका अपमान करता है और क्या बुरखा औरतो की आज़ादी के खिलाफ है ?

» उत्तर: इस्लाम में औरतों की जो स्थिति है, उसपर सेक्यूलर मीडिया का ज़बरदस्त हमला होता है। वे पर्दे और

चींटियों की जीवनशैली और परस्पर सम्पर्क (Ant life in Quran)

!! कुरआन और जीव विज्ञान !!
“पैग़म्बर सुलेमान (अलैहिस्सलाम) के लिये जिन्नातों, इंसानों, परिन्दों की सेनाऐं संगठित की गई थीं और वह व्यवस्थित विधान के अंतर्गत रखे जाते थे एक बार वह उनके साथ जा रहा था यहां तक कि जब तमाम सेनाएं चींटियों की वादी में पहुंचीं तो एक चींटी ने कहाः ‘‘ए चींटियो ! अपने बिलों में घुस जाओं कहीं ऐसा न हो कि सुलेमान और उसकी सेना तुम्हें कुचल ड़ालें और उन्हें पता भी न चले। ”
(अल-क़ुरआन: सूर: 27 आयत. 17.18 )

हो सकता है कि अतीत में कुछ लोगों ने पवित्र क़ुरआन में चींटियों की उपरोक्त वार्ता देख कर उस पर टिप्पणी की हो और कहा हो कि चींटियां तो केवल कहानियों की किताबों में ही बातें करती हैं। अलबत्ता निकटतम वर्षो में हमें चींटियों की जीवन शैली उनके परस्पर सम्बंध और अन्य जटिल अवस्थाओं का ज्ञान हो चुका है। यह ज्ञान आधुनिक काल से पूर्व के मानव समाज को प्राप्त नहीं था।
अनुसंधान से यह रहस्य भी खुला है कि वह “जीव: कीट” पतंग, कीड़-मकोड़े जिनकी जीवन शैली मानव समाज से असाधरण रूप से जुड़ी है वह चींटियां ही हैं।
इसकी पुष्टि चींटियों के बारे में निम्नलिखित नवीन अनुसंधानों से भी होती है:
क). चींटियां भी अपने मृतकों को मानव समाज की तरह दफ़नाती हैं।
ख). उनमें कामगारों के विभाजन की पेचीदा व्यवस्था है जिसमें मैनेजर, सुपरवाईज़र, फोरमैन और मज़दूर आदि शामिल हैं।
ग). कभी कभार वह आपस में मिलती है और बातचीत भी करती हैं।
घ). उनमें विचारों का परस्पर आदान प्रदान (Communication) की विकसित व्यवस्था मौजूद है।
च). उनकी कॉलोनियों में विधिवत बाज़ार होते हैं जहां वे अपने वस्तुओं का विनिमय करती हैं।
छ) सर्द मौसम में लम्बी अवधि तक भूमिगत रहने के लिये वह अनाज के दानों का भंडारण भी करती हैं और यदि कोई दाना फूटने लगे यानि पौधा बनने लगे तो वह फ़ौरन उसकी जड़ें काट देती हैं ।
जैसे उन्हें यह पता हो कि अगर वह उक्त दाने को यूंही छोड़ देंगी तो वह विकसित होना प्रारम्भ कर देगा ।
– अगर उनका सुरक्षित किया हुआ अनाज भंडार किसी भी कारण से उदाहरण स्वरूप वर्षा में गीला हो जाए तो वह उसे अपने बिल से बाहर ले जाती हैं और धूप में सुखाती हैं।
– जब अनाज सूख जाता है तभी वह उसे बिल में वापस ले जाती हैं। यानि यूं लगता है , जैसे उन्हें यह ज्ञान हो कि नमी के कारण अनाज के दाने से जड़ें निकल पड़ेंगी जिसके कारण वह दाने खाने के योग्य नहीं रह जाएंगे।

Ant , Quran and Miracle of Female talking Ant

क़ुरआन मे मानव जीवन के लिये है – “समता, स्वतंत्रता, बंधुत्व-भावना” : विशम्भर नाथ पाण्डे (भूतपूर्व राज्यपाल, उड़ीसा)

“क़ुरआन ने मनुष्य के आध्यात्मिक, आर्थिक और राजकाजी जीवन को जिन मौलिक सिद्धांतों पर क़ायम करना चाहा है उनमें लोकतंत्र

इस्लाम केवल एक धर्म नहीं, बल्कि एक अति उत्तम जीवन-प्रणाली है: अन्नादुराई (भूतपूर्व मुख्यमंत्री – तमिलनाडु)

तमिलनाडु के भूतपूर्व मुख्यमंत्री अन्नादुराई इस्लाम के संधर्भ में कहते है – “इस्लाम केवल एक धर्म नहीं है, बल्कि वह

Tarun Vijay (News Magazine Editor) About Islam ….

» NonMuslim View About Islam : तरुण विजय सम्पादक, हिन्दी साप्ताहिक ‘पाञ्चजन्य’ (राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ पत्रिका): ‘‘…क्या इससे इन्कार

Dr. Babasaheb Ambedkar about Islam

NonMuslim View About Islam: डॉ॰ बाबासाहब भीमराव अम्बेडकर (बैरिस्टर, अध्यक्ष-संविधान निर्मात्री सभा) “इस्लाम धर्म सम्पूर्ण एवं सार्वभौमिक धर्म है जो

भ्रूणशास्त्र की आयते देखकर डॉ किथ मूर को विश्वास हो गया के "कुरान ईश्वरीय ग्रन्थ है" embryology in the quran

भ्रूणशास्त्र की आयते देखकर डॉ किथ मूर को विश्वास हो गया के “कुरान ईश्वरीय ग्रन्थ है”

प्रो. डॉ. कीथ मूर जो कि वर्तमान समय मे विश्व मे एम्ब्रियोलॉजी अर्थात् भ्रूण शास्त्र के सबसे बड़े ज्ञाता माने

close
Ummate Nabi Android Mobile App