जो कोई दिल से ‘अल्हम्दुलिल्लाही रब्बिल आलमीन’ कहेगा उसके लिए 30 नेकियां लिखी जाएगी

अलहम्दुलिल्लाह की फ़ज़ीलत - 30 नेकियां और 30 गुनाह मुआफ

🌟 रसूलअल्लाह (सलअल्लाहू अलैही वसल्लम) ने फरमाया :

❝जो कोई दिल से अल्हम्दुलिल्लाही रब्बिल आलमीन कहेगा (यानी ज़ुबान के साथ दिल से भी इसका यकीन हो की तमाम तारीफें अल्लाह के लिए हैं और वही सारे जहाँ का पालने वाला है) तो उसके लिए 30 नेकियां लिखी जाएगी और 30 गुनाह मिटा दिए जाएँगे”❞

📕 मसनद अहमद , हदीस 7813-सहीह 


⭐ रसूलअल्लाह (सलअल्लाहू अलैही वसल्लम) ने फरमाया:

❝अलहम्दुलिल्लाह कहने से मीज़ान भर जाता है❞

📕 सुनन इब्न माजा, जिल्द 1, 280-सहीह

© Ummat-e-Nabi.com

Ahadees in HindiAhadit in HindiAll Hadees in Hindi ImagesBeautiful Hadees in HindiBest Hadees in HindiBest Hadith in Hindi for Whats AppBest Islamic Hadees in Hindi LanguageBest Islamic Quotes in HindiBest Islamic Status for Whatsapp in HindiBest Muslim Status in HindiHadees e Nabvi in HindiHadees e Rasool in Hindiसुनन इब्ने माजाहदीस की बातें हिंदी में


Recent Posts


Dr. Babasaheb Ambedkar about Islam

इस्लाम धर्म सम्पूर्ण एवं सार्वभौमिक धर्म है जो कि अपने सभी अनुयायियों से समानता का व्यवहार करता है


क्यों हो जाते है लोग इतने बेहरहम ? क्या इन्हें खुदा का खौफ नहीं है ?

? सिरिया में हो रहे क़त्ले आम से हम तमाम के लिए क्या नसीहत वाजेह होती है ? जानने के लिए एक बार इस पोस्ट को जरुर पढ़े और इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करने में हमारी मदद करे ,. जजाकल्लाह खैर,..