दहेज़ की मुखालिफत में JNU के छात्र ने किया कमाल | सादगी भरे निकाह से कायम की अनोखी मिसाल

मुजफ्फरपुर (बिहार) आये दिन दहेज़ के नाम पर इस मुल्के हिंदुस्थान में खवातीन पर होने वाले अनगिनत ज़ुल्म नज़र आ रहे है, लेकिन अलाह्म्दुलिल्लाह शरियते इस्लामिया की मुक्कदस अहकाम को माननेवाले भी हर दौर में अपनी सलाहियत के मुताबिक उम्मत में शऊर जगाने की कोशिश रहे है,. ऐसा ही एक मंज़र पेश आया जब JNU के एक छात्र ने दहेज़ की मज़म्मत करते हुये अपने सादगीभरे निकाह की मिसाल पेश की ,..

हम बात कर रहे है मुजफ्फरपुर (बिहार) के रहने वाले मोहम्मद इम्तेयाज़ भाई के बारे जो हाल ही में JNU से M.A की डिग्री हासिल कर दहेज़ की हलाकत के ताल्लुक से अवाम में शऊर जगा रहे है ,.
उन्होंने अपना निकाह जुमा की नमाज़ के बाद मस्जिद में ही करवाया, जिसमे न कोई बारात थी और न ही फ़िज़ूल का शोरशराबा , सिर्फ घर के चंद अफराद ही की मौजूदगी में सुन्नत से साबित निकाह का सादगीभरा पैगाम दिया ,.. निकाह से पहले इम्तेयाज़ भाई ने दहेज़ की हलाकत के ताल्लुक से अवाम में शऊर भी जगाया ,. जिसमे भाई ने बिलखुसुस इस बात पर तवज्जो दी के बेटीया रहमत है जेहमत नहीं !
सुभानअल्लाह! इम्तेयाज़ भाई ने लड्किवालो पर बगैर किसी बोझ के इस निकाह को सरअंजाम दिया हत्ता के दूल्हा और दुल्हन के साजो सामान तक खुद इम्तियाज़ भाई ने मुहैय्या करवाया ,..

वलीमा में लगाये दहेज़ की मुखालिफत भरे पोस्टर्स
वलीमा के दिन भी दहेज़ की मुखालिफत करते हुए पोस्टर लगाये गए,.हत्ता के दुल्हन के बैठने की जगह भी फूलो से सजाने के बजाये पोस्टर्स लगाये , ताकि हर कोई पढ़कर नसीहत हासिल कर ले के गैरतमंद मर्द को झेबा नहीं देता के वो लड़की वालो से दहेज़ तलब करे ,..

माशाल्लाह! इम्तियाज़ भाई की इस कोशिश से बाज़ गैरतमंद भाइयो ने भी अहद किया के वो भी इसी तरह सादगी से नीकाह करेंगे,.. हर किस्म की गैरशरायी रुसुमात से बचकर मुस्लिम और गैरमुस्लिमो को शरियत से साबित निकाह का पाकीज़ा हुक्म बताएँगे|

दहेज़ के खिलाफ इस इन्कलाब के बारे में बेचारी हमारी मीडिया के पास वक्त नहीं ! बेटी बचाओ के नारे लगाने वाली मीडिया दहेज़ की हलाकत के बारे में कभी लोगो में शऊर नहीं जगाना चाहती | इसकी वजह क्या है बहरहाल बताने की जरुरत नहीं |

*खैर अगर आपको भी लगता है के दहेज़ के खिलाफ आवाज़ बुलंद करने की जरुरत है जिसकी बदौलत मुआशरे में तब्दीलिया लायी जा सकती है तो बराए मेहरबानी इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करने में हमारी मदद करे ,..

*बहरहाल! इम्तेयाज़ भाई फिलहाल Anti Dowry के मुद्दों पर काम भी कर रहे, अल्लाह से दुआ है के अल्लाह तआला इम्तेयाज़ भाई के खिदमते खल्क भरे जस्बे में खूब कामियाबी अता करे और हम सबको भी दहेज़ की जमकर मज़म्मत करने की तौफीक अता फरमाए ,…

DahejDowryJahaz Ke NuqsanatJahaz ki HalakatJahaz ki HalaqatJahaz ki LanatJahaz Ki TabahkariyanReality of Dowry
Comments (1)
Add Comment
  • md taiyab

    Ameen


Related Post


कुरआन और हदीस के अध्ययन के बाद मुझे अपनी जिंदगी का मक्सद इस्लाम में ही नजर आया: सिस्टर विक्टोरिया (अब आयशा)

सिस्टर विक्टोरिया (अब आयशा) की इस्लाम अपनाने की दास्तां बड़ी दिलचस्प है। उनका पहली बार मुसलमान और…


Islamic Quiz – 60

✦ Sawal: Quran ke mutabik Inme se kis cheez ke bagair Aakhirat ki Kamiyabi mumkin nahi ?
• Options…