Browsing Category

Quran Quotes

जो लोग ईमान लाये और अपने ईमान को शिर्क से लिप्त नहीं किया

अमन का मार्ग:  जो लोग ईमान लाये और अपने ईमान को अत्याचार (शिर्क) से लिप्त नहीं किया, उन्हीं के लिए शान्ति है तथा वही मार्गदर्शन पर हैं। (कुरआन 6:82) Ref: Wisdom Media School #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com

एकजुट हो कर रहें। और सब मिलकर अल्लाह की रस्सी को मज़बूती से पकड़ लो [कुरआन ३:१०३]

एकजुट हो कर रहें। और सब मिलकर अल्लाह की रस्सी को मज़बूती से पकड़ लो और विभेद में न पड़ो। ( कुरआन ३:१०३ ) Ref: Wisdom  Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com

कुरआन में मानवता के लिए 99 सीधे आदेश ! जानिए

1 बदज़ुबानी से बचो। (सूरह 3:159) 2 गुस्से को पी जाओ। (सूरह 3:134) 3 दूसरों के साथ भलाई करो। (सूरह 4:36) 4 घमंड से बचो। (सूरह 7:13) 5 दूसरों की गलतियां माफ करो। (सूरह 7:199) 6…

Allah ki Rehmat se Kabhi Mayoos na ho! Mayusi Kufr hai

1 Mayoosi Kufr hai "Aur Allah Ki Rehmat se Kabhi Mayus na ho! Beshaq Allah ki Rehmat se wo hi log Mayus hotey hai jo kafir hai." PREV ≡ LIST NEXT 2 मायूसी कुफ्र है। और अल्लाह की रेहमत से कभी मायूस न हो, बेशक…

99 क़ीमती बातें | कुरआन व हदीस की रौशनी में

1 अल्लाह की याद से अपने दिल को ताज़ा दम रखा कीजिए। इस लिए के खुदा की याद क़ुलूब के लिए इत्मिनान का जरिया है। (सूरह राअद 28) 2 अल्लाह की ज़ात आली पर मुकम्मल भरोसा कीजिये। इस लिए के अल्लाह त’अला तवक़्क़ल करने वालों को मेहबूब रखता हैं।…

और व्यभिचार (adultery) के निकट भी न जाओ।

कल्याणकारी मधुर संदेश इस्लाम समाज में फैली किसी भी बुराई जैसे (चोरी/बलात्कार/शराब...आदि) से न सिर्फ रोकता है बल्कि उसे मिटाने के तरीके भी बताता है। "और ज़िना (व्यभिचार) के निकट भी न जाओ, नि:सन्देह यह बहुत ही घृणित काम और बुरा रास्ता…