Browsing tag

Bujurgo Ki Tazim

Haqeer se Haqeer Pesha Ikhtiyar kar ke Mehnat Karna

♥ Bujurgo ke Aqwal ♥ ❝ Haqeer se Haqeer Pesha Ikhtiyar kar ke Mehnat karna kisi ke Aagey Haath Failane se Zyada behtar hai. ❞ – Hazrate Usman-e-Gani (R.A) ♥ बजुर्गो के अक़्वाल ♥ ❝ हक़ीर से हक़ीर पेशा इख़्तेयार कर के मेहनत करना किसी के आगे हाथ फैलाने से ज्यादा बेहतर है।❞ – हज़रते […]

अल्लाह वालो की सिफत

एक बार हज़रत उमर रज़ियल्लाहु अनहु बाज़ार में चल रहे थे। वह एक शख्स के पास से गूज़रे जो दुआ कर रहा था। “ऐ अल्लाह!! मुझे चन्द लोगों में शामिल कर।” “ऐ अल्लाह मुझे चन्द लोगों में शामिल कर।” उमर रज़ियल्लाहु अन्हु ने उससे पूछा। “यह दुआ तुमने कहां से सीखी?” वह बोला, अल्लाह की […]

Imam Wo Hi Hai Jo Kitaab Allah Ke Mutabik Faisle Karey

Hazrte Hussain (RaziAllahu Anhu) Farmate hai ke – “Imam Wo Hi Hai Jo Kitaab Allah Ke Mutabik Faisle Karey, Adaalat Ke Sath Qayaam Karey, Deen-e-Haq Par Amal Daramat Karey, Aur Khud Ko Allah Ke Marbut Cheezo Me Khalis Kar De.” – Bujurgo ke Aqwal हजरते हुसैन (रज़ीअल्लाहु अन्हु) फरमाते है के – “इमाम वो ही […]