Gharwalo ki Taalim aur Tarbiyat | Post 3 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 3⃣

“इस्लाम और हमारा घर”

घर वालों की तालीम और उनकी तरबियत, घर वालों को दीन सिखाना

“अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया:”
“ऐ ईमान वालों ! तुम अपने आप को और अपने घर वालों को जहन्ऩम की आग से बचाओ।”
(सूरह अल तहरीम 66)

अली रज़िअल्लाहु अ़न्हु (قُوۡۤا اَنۡفُسَکُمۡ وَ اَہۡلِیۡکُمۡ نَارًا) की तफ्सीर में फ़रमाते हैं:
“अपने आप को और अपने घर वालों को भलाई की तालीम दो।”

(इमाम ज़हबी ने तलखीस में बुखारी व मुस्लिम की शर्त पर कहा है ।)
(हाकिम 3826)

सिरीज » इस्लाम और हमारा घर

——J,Salafy✒——
▪शेयर करें▪

जिस शख़्स ने किसी नेकी का पता बताया, उसके लिए (भी) नेकी करने वाले के जैसा अजर हैं।
(स़ही़ह़ मुस्लिम: ज़ी. 3, हदीस 4665)

Rate this post

Leave a Reply