Browsing Tag

Hadees

क्या मन अशांत है? रास्ता है। कुरआन के साथ रिश्ता बनाएं; कुरआन दिलों को स्वस्थ करता है और मार्गदर्शन…

क्या मन अशांत है? रास्ता है। कुरआन के साथ रिश्ता बनाएं; कुरआन दिलों को स्वस्थ करता है और मार्गदर्शन देता है। (कुरआन १०:५७) Ref: Wisdom  Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com
Read More...

बेटियाँ और बहनें स्वर्ग के रास्ते हैं। जिसको दो या तीन बेटियाँ या बहनें हैं, वह अगर उनको श्रद्धा से…

बेटियाँ और बहनें स्वर्ग के रास्ते हैं। जिसको दो या तीन बेटियाँ या बहनें हैं, वह अगर उनको श्रद्धा से देखभाल और पालन पोषण करें तो उनके लिए स्वर्ग है। (पैगंबर मोहम्मद) Ref: Wisdom  Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com
Read More...

एकजुट हो कर रहें। और सब मिलकर अल्लाह की रस्सी को मज़बूती से पकड़ लो और विभेद में न पड़ो। (कुरआन…

एकजुट हो कर रहें। और सब मिलकर अल्लाह की रस्सी को मज़बूती से पकड़ लो और विभेद में न पड़ो। (कुरआन ३:१०३) Ref: Wisdom  Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com
Read More...

जो सहयोग नहीं करता और निसहयोग बनाये रखता है, उसमें कोई भलाई नहीं है। (पैगंबर मोहम्मद ﷺ) #Hadeed…

जो सहयोग नहीं करता और निसहयोग बनाये रखता है, उसमें कोई भलाई नहीं है। (पैगंबर मोहम्मद ﷺ) Ref: Wisdom  Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com
Read More...

“सन्तान की हत्या न करे बल्कि सुरक्षा दे। और निर्धनता के भय से अपनी सन्तान की हत्या न करो, हम उन्हें…

“सन्तान की हत्या न करे बल्कि सुरक्षा दे। और निर्धनता के भय से अपनी सन्तान की हत्या न करो, हम उन्हें भी रोज़ी देंगे और तुम्हें भी।” (कुरआन १७:३१) Ref: Wisdom  Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com
Read More...

अनाथों के प्रति करुणा पर्याप्त नहीं है, सम्मान भी जरूरी है। “ऐसा नहीं, बल्कि तुम अनाथ का आदर नहीं…

क्या आप अनाथों का सम्मान करते हो? अनाथों के प्रति करुणा पर्याप्त नहीं है, सम्मान भी जरूरी है। “ऐसा नहीं, बल्कि तुम अनाथ का आदर नहीं करते।” (कुरआन ८९:१७) Ref: Wisdom  Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com
Read More...

हर पल कीमती है। जीवन के वृक्ष से समय के पत्ते झड़ते है। “अतः जब निवृत हो तो परिश्रम में लग जाओ।”…

हर पल कीमती है। जीवन के वृक्ष से समय के पत्ते झड़ते है। “अतः जब निवृत हो तो परिश्रम में लग जाओ।”  (कुरआन ९४:७) Ref: Wisdom  Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com
Read More...

जीवनसाथी में अच्छाई खोजें और खुश रहें। ” एक विश्वासी को अपनी पत्नी से घृणा नहीं करनी चाहिए। अगर उसका…

जीवनसाथी में अच्छाई खोजें और खुश रहें। ” एक विश्वासी को अपनी पत्नी से घृणा नहीं करनी चाहिए। अगर उसका एक व्यवहार संतोषजनक नहीं है तो दूसरा होगा।” (हजरत मुहम्मद ﷺ) Ref: Wisdom  Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com
Read More...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More