21 Muharram | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

21. मुहर्रम | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा 

हजरत इब्राहीम (अ.स) को सज़ा देने की तजवीज़, अल्लाह की कुदरत : मोती की
पैदाइश, एक फर्ज : माँ बाप के साथ अच्छ सुलूक करना, ईमान वालों को तकलीफ देने का गुनाह, आख़िरत: अहले जहन्नम की फरियाद …

Hadees : Zikr-e-Ilaahi Karne Walo ke Liye Khushkhabri

Zikr-e-Ilaahi karne walo ke Liye Khush khabri …

Hadees of the Day

Zikr-e-Ilaahi karne walo ke Liye Khush khabri

Hazrte Abu Huraira (R.A) se Mairvi hai ki,
Rasool’Allah (ﷺ) ka farman hai –

“Allah Ta’ala ke kuch Sayyah (Yaani Sair Karne Wale) Farishte hai,

Jab Woh Mehafil-e-Zikr (Allah ka Zikr/Ibadat karne walo) ke Paas se Gujarte hai tou
Ek Dusre se kahte hai: (Yahan) Baitho.

Jab Zakirinn (Zikr Karnewale) Dua Mangte hai tou Farishte Unki Dua par ‘Aameen’ Kehte hai.

Jab Woh Nabi (ﷺ) par Durood bhejte hai tou Woh Farishte bhi Unke Sath Milkar Durood bhejte hai, Hatta ki woh Muntashir (Yaani Idhar Udhar) ho jate hai.

Phir Farishte ek dusre ko kahte hai ki Inn Khush-Nasibo ke liye Khush-Khabari hai ki woh Magfirat ke saath wapas ja rahe hai.”

📕 Jam’ul Jawami’a Lissuyuti,J 3, Safa 125, Hadees-7750

Read MoreZikr-e-Ilaahi karne walo ke Liye Khush khabri …

4.5/5 - (17 votes)
3 Rabi-ul-Awal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

3 Rabi-ul-Awal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

इस्लामी तारीख: हज़रत मरयम (अ.स) की आज़माइश, अल्लाह की कुदरत: जिस्म में गुर्दे की अहमियत (Kidney), दरवाज़े पर सलाम करने की सुन्नत, अल्लाह के ज़िक्र की फ़ज़ीलत, मेहर अदा ना करने का गुनाह, मुत्तक़ी और परहेज़गारों का इनाम …

13. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

13 Zil Hijjah | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

  1. इस्लामी तारीख:
  2. अल्लाह की कुदरत
  3. एक फर्ज के बारे में
  4. एक सुन्नत के बारे में
  5. एक अहेम अमल की फजीलत
  6. एक गुनाह के बारे में
  7. दुनिया के बारे में
  8. आख़िरत के बारे में
  9. तिब्बे नबवी से इलाज
  10. क़ुरान की नसीहत
Rate this post