अल्लाह और उस के रसूल का हुक्म मानो

कुरआन में अल्लाह तआला फ़र्माता है :

“तुम अल्लाह तआला और उस के रसूल का हुक्म मानो
और हुक्म की खिलाफ वरजी से बचते रहो,
फिर अगर तुम मुँह मोड़ोगे (और नहीं मानोगे) तो
यकीन जानो के हमारे रसूल के जिम्मे तो
सिर्फ अहकाम को साफ साफ पहुँचा देना है।”

📕 सूरह मायदा ९२

5/5 - (3 votes)

और देखे :

Leave a Reply