Browsing category

हिंदी

इस्लाम का परिचय हिंदी भाषा में

यहूदियों का ज़वाल और उरूज में उम्मते मुस्लिम के लिए इबरत

यहूदी यानी बनी इसराईल, ये नबियों की औलादें हैं. ये वो क़ौम है जिसको अल्लाह ने तमाम जहान वालों पर फ़ज़ीलत दी थी. मगर इन्होंने बार बार अल्लाह की नाफ़रमानियाँ कीं, नबियों का क़त्ल किया, अल्लाह के अहकामात की ख़िलाफ़वरज़ी की, अल्लाह के दीन में फ़िरक़े बनाये, बातिल से याराने किये और हक़ परस्तों की […]

नमाज का आसान तरीका हिंदी में

✦ नमाज़ की शर्ते नमाज़ की कुछ शर्ते हैं. जिनका पूरा किये बिना नमाज़ नहीं हो सकती या सही नहीं मानी जा सकती. कुछ शर्तो का नमाज़ के लिए होना ज़रूरी है, तो कुछ शर्तो का नमाज़ के लिए पूरा किया जाना ज़रूरी है. तो कुछ शर्तो का नमाज़ पढ़ते वक्त होना ज़रूरी है, नमाज़ […]

इस्लामी शाशन का आधार न्याय पर है, जिसकी आज सख्त जरुरत है ….

✦ इस्लामी शिक्षा के आधार पर शान्तिपूर्ण शासन की स्थापना हुई है !! इस्लाम इंसानियत के सामने जो नियम और संविधान प्रस्तुत करता है चाहे उसका सम्बन्ध जीवन के किसी भी क्षेत्र से हो वह मानव प्रकृति से पूरे तौर पर मेल खाला है, इस्लामी शरीयत में एक विद्वान कहीं भी देशी छाप या कबाइली […]

बदला लेने के बजाये कातिलो को क्यों कर दिया मुआफ ?

” अगर मेरे बेटे की मौत का बदला लेने की कोशिश की, तो मैं मस्जिद छोड़ दूंगा. ये शहर भी छोड़ दूंगा.” जी हा ! ये बात उस मौलाना ने कही जिसके १६ साल के बेटे को पश्चिम बंगाल के दंगों में बेरहमी के साथ मार दिया गया ,. # क्या वो मौलाना नासमझ है […]

क्यों हो जाते है लोग इतने बेहरहम ? क्या इन्हें खुदा का खौफ नहीं है ?

सदियों से हम इन्सानो पर हो रहे ज़ुल्म की दास्ताँ सुनते आ रहे है, ज़ालिम इस हद्द तक क़त्ले आम करते है मानो वो इन्सान ही न हो, वो जिस किसी भी रब की इबादत करते हो उसे उसका खौफ ही न हो,.. जैसा की मौजूदा दौर में सीरिया में जो कुछ क़त्ले आम हो […]

इस्लाम से प्रॉब्लम ! किसको और क्यों ?

आज दुनिया भर में इस्लाम से जलने वालो की कमी नहीं है, क्यूंकि इस्लाम कहता है – #सच बोलो – तो सारे झूठे और दगाबाजो को प्रॉब्लम | #चोरी #रिश्वत #सूद से बचो – तो सारे घोटाला बाजो को प्रॉब्लम | #शराब से दूर रहो – तो सारे बेवडो को प्रॉब्लम | #अमन के साथ […]

Janiye Maine Kyu Qabula Islam : Ex Hindu Activist Revert to Islam

इस्लाम की बद्दनामी के लिए दिन रात बेशुमार मनसूबे किये जाते है, लेकीन वो लोग भूल जाते है के इस्लाम कायनात के रब के उसूलो का नाम है, लिहाजा ये लोग जितनी भी चाले चल ले इनकी हर चाल लोगो को अल्लाह दीन की तरफ बुला रही है, ऐसा ही एक वाकिया हमारे गैरमुस्लिम भाई […]

जब कानून के रखवाले नहीं करेंगे अपना काम , तो जानिए क्या होगा उनका अंजाम ?

एक अरसे पहले इन्टरनेट पर दो पुलिस वालो का आपस में लड़ता हुआ विडियो वायरल हो गया था, तहकीक के बाद पता चला के आपसी इख्तेलाफ़ (मतभेद) के चलते उनमे लडाई हुई ,. मुझे बताइए ? इनके साथ डिपार्टमेंट ने क्या किया होगा ? जी हा आपने बिलकुल सही ख्याल किया, उन दोनों ससपेंड कर […]

गुलामो का ये कहना के नाकिस है ये किताब, सिखाती नहीं हमे गुलामी के उसूल: डॉ. अल्लामा इकबाल

Gulaamo ka ye kehna ke naqees hai ye kitaab (Quran), Sikhaati nahi hume Gulaami ke usool: Dr.Allama Iqbal दुनिया परस्ती के फ़ितनो में मुब्तेला होकर अल्लाह की नाजिल करदा किताब (कुरान) से दूरी इख़्तियार करने वाले बाज़ मुसलमानों का नजरिया बयांन करते हुए डॉ.अल्लामा इकबाल अपने अशार में कहते है के: गुलामो का ये कहना […]

३ साल की कड़ी मेहनत के बाद राजीव भाई ने पेश किया कुरान का मारवाड़ी अनुवाद

जी हाँ ! जहा आज दुनिया भर में कुरान और इस्लाम के खिलाफ न जाने कितनी किताबे लिखी जा रही है, वही अल्लाह के फज्लो करम से कुरान के पैगामे हक को लोगो में आम करने की खिदमत में भी अल्लाह के बन्दे दिन रात कड़ी से कड़ी मेहनत कर रहे,.  ताज्जुब की बात तो […]

इस्लाम का परिचय

इस्लाम क्या है ? अल्लाह का परिचय ? इस्लाम की मूल आस्थाये 1. पहली अनिर्वाय आस्था – तौहीद 2. दूसरी अनिर्वाय आस्था – रिसालत 3. तीसरी अनिर्वाय आस्था – आखिरत पैगम्बर मोहम्मद (स.) – संक्षिप्त जीवन परिचय हदीस का परिचय हज का परिचय क़ुरबानी का उद्देश्य (बकरा ईद) कुरान का परिचय

कुरआन में मानवता के लिए 99 सीधे आदेश ! जानिए

1. बदज़ुबानी से बचो | *(सूरह 3:आयत न० 159)* 2. गुस्से को पी जाओ | *(सूरह 3: आयत न०134)* 3. दूसरों के साथ भलाई करो | *(सूरह 4:आयत न० 36)* 4. घमंड से बचो | *(सूरह 7:आयत न०13)* 5. दूसरों की गलतियां माफ करो | *(सूरह 7: आयत न० 199)* 6. लोगों से नरमी से […]

धर्म क्या है, और इसकी उत्पति कैसे हुयी ?

• सवाल 1. धर्म क्या है, और इसकी उत्पति कैसे हुयी ? • सवाल 2. आप धर्म को क्यों मानते हो और जीवन मै इसका क्या महतव है ? » जवाब: ● धर्म……… धर्म मौलिक मानवीय मूल्यों (अच्छे गुणों) से आगे की चीज़ है। अच्छे गुण (उदाहरणतः नेकी, अच्छाई, सच बोलना, झूठ से बचना, दूसरों […]

Zameen ki Shakl ke bare me Janiye kya kehta hai Quran (Shape of the earth in Quran)

अक्सर गैरमुस्लिम हज़रात कुरान की सुरह ७९ की आयत ३० के सबब ये ग़लतफहमी रखते है के कुरआन के तहत ज़मीन की शक्ल फ्लैट है, तो आईये उनकी इस ग़लतफहमी का इजाला करने इस मुख़्तसर सी विडिओ का मुताला करते है .. – बराए मेहरबानी इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करने में हमारा तावून करे! […]

दुआ इबादत है – तो इबादत के उसूल – हदीस की रौशनी में

♥ मह्फुम ऐ हदीस: हजरत अब्दुल्लाह इब्न अब्बास (रज़ि0) का बयान है कि एक दिन मैं अल्लाह के अन्तिम रसूल मुहम्मद (सलाल्लाहो अलैहि वसल्लम) के पीछे सवारी पर बैठा था कि आपने फऱमायाः ऐ बेटे! मैं तुम्हें कुछ बातें सिखाता हूं: अल्लाह को याद रख, अल्लाह तेरी रक्षा करेगा। अल्लाह को याद रख अल्लाह को […]

मुसलमान से आप की दुश्मनी धार्मिक है या राजनैतिक

जी हा ! सोशल मीडिया पर मुसलमानों ने कुछ सवाल पूछना शुरू कर दिया है उनका कहना है जो लोग हमारे खिलाफ ज़हर उगलते है वो इन सवालो का जवाब दें या गौर करें कि क्या सिर्फ राजनीती के लिए हमारे खिलाफ ज़हर उगला जाता है। मौजूदा हालात में फैलती नफरत के बीच आजकल मैं […]

अकीदा क्या होता है ? और इसका महत्त्व

1- प्रश्नः वह कलमा जिसे बोलकर एक आदमी मुसलमान बनता है क्या है और उसका अर्थ क्या होता है ? उत्तरः वह कलमा जिसे बोलकर एक आदमी मुसलमान बनता है कलमा शहादत ( अश्हदु अल्ला इलाहा इल्लल्लाहु व अश्हदु अन्न मोहम्मदन रसूलुल्लाह) है। जिसका अर्थ होता है में गवाही देता हूँ कि अल्लाह के अलावा […]

जानिए – क्यों मनायी जाती है बकरी ईद

ईद उल अज़हा को सुन्नते इब्राहीम भी कहते है। इस्लाम के मुताबिक, अल्लाह ने अपने नबी(प्रेषित) हजरत इब्राहिम अलैहिस्सलाम की परीक्षा लेने के उद्देश्य से अपनी सबसे प्रिय चीज की कुर्बानी देने का हुक्म दिया। – हजरत इब्राहिम को लगा कि उन्हें सबसे प्रिय तो उनका बेटा है इसलिए उन्होंने अपने बेटे की ही बलि […]

हदीस का परिचय – हदीस पर अमल की जरुरत

पवित्र क़ुरआन के बाद मुसलमानों के पास इस्लाम का दूसरा शास्त्र अल्लाह के रसूल मुहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) की कथनी और करनी है जिसे हम हदीस और सीरत के नाम से जानते हैं। हदीस की परिभाषाः हदीस का शाब्दिक अर्थ है: बात, वाणी और ख़बर। इस्लामी परिभाषा में ‘हदीस’ मुहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) […]

इस्लाम की मूल आस्थाये

इस्लाम की मुल आस्थाये ३ है , जिन्हें मानना सम्पूर्ण मानवजाति के लिए अनिर्वाय (Compulsory) है | १) तौहिद – एकेश्वरवाद (एक इश्वर में आस्था रखना) २) रिसालत – प्रेशित्वाद (इशदुत, नबी, Messengers) ३) आखिरत – परलोकवाद (मृत्यु के बाद का जीवन) पहली अनिर्वाय आस्था – तौहीद दूसरी अनिर्वाय आस्था – रिसालत तीसरी अनिर्वाय आस्था – आखिरत

अल्लाह कौन है – अल्लाह का परिचय और विशेषताएं

हमारे मन में यह प्रश्न बार बार उभरता है कि अल्लाह कौन है ? वह कैसा है ? उस के गुण क्या हैं ? वह कहाँ है ? अल्लाह का शब्द मन में आते ही एक महान महिमा की कल्पना मन में पैदा होती है जो हर वस्तु का स्वामी और रब हो। उसने हर […]

इस्लाम क्या है और मुस्लिम किसे कहते है ? (संशित परिचय)

#_इस्लाम_क्या_है_? “..सम्पूर्ण प्रशंशा उस एक सत्य इश्वर (अल्लाह) के लिए है जो सारे संसार का रचियेता और पालनकर्ता है, और इश्वर की शांति और कृपा हो उसके अंतिम संदेष्ठा मुहम्मद सलाल्लाहो अलैहि वसल्लम पर|..” इस्लाम धर्म एक ऐसा धर्म है जिसके बारे में खुद मुसलमानों को और गैरमुसलमानो को सबसे ज्यादा गलत धारनाए और गलतफेहमिया […]

तौहीद – इस्लाम की पहली अनिर्वाय आस्था

इस्लाम की सबसे पहली जो आस्था है तौहिद इसको हम आपके सामने रखते है जो मानवता को बताने के लिए इश्वर (अल्लाह) ने हर समय, हर समुदाय, हर जाती के अंदर प्रेषित (नबी, इश्दुत) भेजे ताकि मानवों को बता दे और उनका रिश्ता श्रुष्टि के रचियेता एक इश्वर से जोड़ दे| *तो तौहिद का अर्थ […]

रिसालत – इस्लाम की दूसरी अनिर्वाय आस्था

*रिसालत का अर्थ होता है के जब अल्लाह ने पृथ्वी पर मानवो को भेजा तो मानव क्या करे और क्या ना करे , कैसे जीवन व्यक्त करे इसके मार्गदर्शन के लिए इश्वर(अल्लाह) मानवो में से एक मानव को चुन लेता था फिर वो अपनी वाणी उस तक भेजता था और फिर उन्हें मार्गदर्शन बताता के […]

आखिरत – इस्लाम की तीसरी अनिर्वाय आस्था

आखिरत का अर्थ होता है – परलोकवाद (अंतिम प्रलय या मृत्यु के पच्छात जीवन पर विश्वास): *जैसे के: हम इस जीवन से पहले मृत्य थे, इश्वर(अल्लाह) ने हमे पृथ्वी पर भेजा (जीवन दिया).. तो एक मृत्यु और उसके बाद ये जीवन एक हुआ ,. इस जीवन के बाद फिर एक मृत्यु है और उस मृत्यु […]

Dunia ko sabse Jyada Fayda pohchane walo ki Suchi me Pehla Naam Hai Muhammad (ﷺ)

Muhammad (Salallaho Alaihi Wasallam) – The Most Influential person in history by Michael H. Hart (Muhammad No.1) १९७८ में अमेरिका के एक बोहोत ही मशहूर फिलोसोफेर माइकल हार्ट ने एक किताब लिखी जिसमे उन्होंने दुनिया के सबसे पहले इन्सान से लेकर १९७८ तक के जितने भी ऐसी शख्सियत गुजरी जिनका दुनिया पर सबसे बडे पैमाने […]

Ex Jain Brother Vijay Kumar Jain Accepted Islam

जानिए – पूर्व जैन धर्म से इस्लाम लाने की दास्तान – विजय कुमार जैन से अब्दुल वाहिद तक का इब्रतनाक वाकिया Janiye – Ex Jain Brother ke Islam laane ki dasta – Vijay Kumar Jain se Abdul Wahid tak ka Ibratnaak Wakiya Video Dekhe:

16 Saal ke Researh ke baad Isayi Padri ne Apnaya Islam

पूर्व ईसाई पादरी मैथ्यू पाल गिल ने इस्लाम स्वीकार किया और मौलाना सलमान गिल बन गए। उन्होंने 16 साल की गहन शोध के बाद इस्लाम को स्वीकार किया। उन्होंने सच्चाई की खोज में विभिन्न धर्मों के विभिन्न धार्मिक ग्रंथों का अध्ययन किया और अल्हम्दुलिल्लाह उन्हें अपने सच्चे रब (अल्लाह) का वास्तविक धर्म यानी इस्लाम मिल […]

Galatiya Nikalne ke Maksad se Quran ka padhna meri hidayat ki wajah bana: Dinesh Sinh

कुरान ईश्वरीय ग्रन्थ है इसमें कोई संदेह नहीं, जब खुद श्रुष्टि का रचयेता अपने ग्रन्थ में सम्पूर्ण मानवजाति से कहता है के “ये कुरान मेरा अवार्तरित ग्रन्थ है, हे मानवों ! तो तुम्हारे जीबन और मृत्यु के पश्चात् जो होगा इसका वर्णन हम इस कुरान में कर रहे है,. लेकिन अगर तुम्हे इसमें कोई संदेह […]

तलाक, हलाला और खुला की हकीकत (Talaq, Halala aur Khula Ki Hakikat)

• तलाक की हकीकत: यूं तो तलाक़ कोई अच्छी चीज़ नहीं है और सभी लोग इसको ना पसंद करते हैं इस्लाम में भी यह एक बुरी बात समझी जाती है लेकिन इसका मतलब यह हरगिज़ नहीं कि तलाक़ का हक ही इंसानों से छीन लिया जाए, पति पत्नी में अगर किसी तरह भी निबाह नहीं […]

ट्रम्प के चुनावों ने दिखा दी मुझे इस्लाम की राह …

*मेरा नाम माइकल कमिंग्स था और इस्लाम कुबूल करने के बाद अपना नाम उबैदाह रखा है और यही इस्लाम में आने की मेरी कहानी है। केंटुकी ग्राम में मेरा बैप्टिस्ट परिवार था लेकिन मैं हमेशा अपने परिवार से अलग रहा था। विशेषतौर पर में दूसरी संस्कृतियों के बारे में जानना चाहता था। मेरे दोनों भाई […]