23 Safar

23. सफर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

हज़रत दाऊद (अ.स) की नुबुव्वत व हुकूमत, अल्लाह की कुदरत : इन्सानी अक्ल, एक फ़र्ज़: वालिदैन के साथ अच्छा सुलूक करना, कुरआने करीम की तिलावत करने की फ़ज़ीलत, बीवियों के दर्मियान इन्साफ न करने का गुनाह …

8 Safar | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

8. सफर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

इस्लामी तारीख: हज़रत लुकमान हकीम, मुअजिज़ा: अरब के रास्तों के मुतअल्लिक़ पेशीनगोई, एक फ़र्ज़: जकात की फर्जियत, यतीम पर रहम करने की फ़ज़ीलत, नाफ़रमानों के माल व दौलत को न देखना …

7 Safar | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

7. सफर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

हजरत अय्यूब (अ.स), कुदरत : परिन्दों का फिज़ा में उड़ना, एक फर्ज : अजाने जुमा के बाद दुनियावी काम छोड़ देना, सुन्नत : गुस्ल से पहले वुजू करना, मरीज़ के अयादत की फ़ज़ीलत …

5 Safar | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

5. सफर | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

हज़रत शुऐब (अ.स) और उन की कौम, कुदरत : कुतुब तारा (ध्रुव तारा / Polestar), एक फर्ज : इस्लाम में नमाज़ की अहेमियत, सुन्नत : बच्चों के सरों पर हाथ फेरना, शराबी की सजा – क़यामत में प्यासा उठेगा …

19 Muharram | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

19. मुहर्रम | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा 

हज़रत इब्राहीम (अ.स) की कौम की हालत, अल्लाह की कुदरत : ज़बानों का मुख्तलिफ होना, एक फर्ज : कुरआन मजीद पर ईमान लाना, शतरंज खेलने का गुनाह, आख़िरत: अहले जन्नत का शुक्र अदा करना …

17 Muharram | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

17. मुहर्रम | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा 

हजरत सालेह (अ.स) की दावत और कौम का हाल, अल्लाह की कुदरत : दीमक, एक फर्ज : इल्म हासिल करना फ़र्ज़ है, अहेम अमल : आफत व बला दूर होने की दुआ, सिफारिश पर बतौरे हदिया माल लेने का गुनाह …

15 Muharram | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

15. मुहर्रम | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा 

तारीख: हज़रत हूद (अ.स) की दावत, अल्लाह की कुदरत : जमीन व आसमान की तखलीख, अल्लाह हर एक को दोबारा जिन्दा करेगा, अहेम अमल : गुस्सा दूर करने की दुआ, एक गुनाह: रिश्ते तोड़ने वाला जन्नत से महरूम …

12 Muharram | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

12. मुहर्रम | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: हजरत नूह (अ.स) की दावत, मुअजिजा : दरख्त का हुजूर (ﷺ) को इत्तेला देना, एक फ़र्ज़ : नमाजी पर जहन्नम की आग हराम है, अहेम अमल : नेअमत के मिलने पर अल्हम्दुलिल्लाह कहना, अल्लाह के साथ शिर्क करने का गुनाह, दुनिया चाहने वालों का अन्जाम …

11 Muharram | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

11. मुहर्रम | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा 

तारीख: हज़रत नूह (अ.स), अल्लाह की कुदरत : बादल, एक फ़र्ज़: बीवी की विरासत में शौहर का हिस्सा, अहेम अमल : शुक्रिया अदा करने की दुआ, एक गुनाह: झूटी गवाही शिर्क के बराबर …

10 Muharram | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

10. मुहर्रम | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: हज़रत इदरीस (अ.स) की दावत, मुअजिजा : अबू जहल पर खौफ, एक फ़र्ज़ : पर्दा करना फर्ज है, अहेम अमल : नमाज़े चाश्त की फ़ज़ीलत, कुफ्र व शिर्क का नतीजा
तिलावत ऐ कुरआन और जिक्रे इलाही की फ़ज़ीलत …

9 Muharram | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

9 Muharram | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: हज़रत इदरीस, अल्लाह की कुदरत : चाँद का फायदा, एक फ़र्ज़ : पाँचों नमाजें अदा करने पर बशारत, अहेम अमल : माहे मुहर्रम में रोजे का सवाब, बिला शराब पीने का गुनाह …

8 Muharram | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

8 Muharram | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

इस्लामी तारीख: हजरत शीस (अ.), हुजूर (ﷺ) का मुअजीजा: बैतुल मुक़द्दिस के बारे में खबर, एक सुन्नत: तक्बीरे तहरीमा के बाद दुआ, एक अहेम अमल: आशूरा का रोज़ा …

7 Muharram | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

7 Muharram | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: काबील और हाबील, अल्लाह की कुदरत : सूरज, एक फ़र्ज़ : दीन में नमाज़ की अहमियत, अहेम अमल : आशूरा के रोजे का सवाब, बिला ज़रूरत मांगने का वबाल …

6 Muharram | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

6 Muharram | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: हज़रत आदम (अ.स) का दुनिया में आना, मुअजिजा : चाँद के दो टुकड़े होना, एक सुन्नत: मेजबान को दुआ देना, अहेम अमल : माहे मुहर्रम में रोजा रखना, यतीमों का माल खाने का गुनाह …

5 Muharram | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

5 Muharram | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: हज़रत आदम (अ.स), अल्लाह की कुदरत : ज़मीन और उस की पैदावार, सुबह की नमाज़ अदा करने पर हिफाजत का जिम्मा, एक सुन्नत: पूरे सर का मसह करना, अहेम अमल : इस्लाम में बेहतर आमाल, गुनाह की वजह से रिज़्क से महरूमी …

insha Allah meaning in hindi

इंशाअल्लाह का मतलब हिंदी में

insha Allah meaning in hindi | इंशाअल्लाह का मतलब होता है: ‘अगर अल्लाह ने चाहा’ तो। जब कोई शख्स भविष्य में कोई कार्य करना चाहता है, या उसका इरादा करता है…

Youm-e-Arfa ka Roza aur Uski Fazilat

Arfa – 9 Zil Hijja ka Roza 2022 (India)

India me Youm-e-Arfa ka Roza Saturday, 9 July 2022 ko hoga.

SEHRI 4:22 | IFTARI 7:17 (Mumbai, Pune)

<<<<<<<<< ۞ >>>>>>>>>

Mafhum-e-Hadees

Youm-e-Arfa ke Roze ki Fazilat

Abu Qatada (RaziAllahu Anhu) se riwayat hai ke,
Rasool’Allah (ﷺ) se Youm-e-Arfa (9 Zil Hajj) ke Rozey ke baarey me poocha gaya tou Aap (ﷺ) ne farmaya: “Is din ka Roza guzishta(guzre hue) saal aur aainda(aane wale) saal ke Gunnaho ka kaffara hai.

📕 Sahih Muslim, Kitabul Siyaam, Hadith no. 367

Read MoreYoum-e-Arfa ka Roza aur Uski Fazilat

5/5 - (13 votes)
Muaf Karne se Allah Taala Bande ki Izzat me ijafa karta hai

Muaf Karne se Allah Taala Bande ki Izzat me ijafa karta hai

Hadees of the Day

Muaf Karne se Allah Taala Bande ki Izzat me ijafa karta hai

۞ Hadees: Abu Hurairah (R.A.) se riwayat hai ke,
RasoolAllah (ﷺ) ne farmaya :

“Sadqe ne maal me kabhi koi kami nahi ki aur Muaf Karne se Allah Subhanahu Bande ko Izzat hi me badhata hai aur jo shakhs sirf Allah Subhanahu ki khatir Aajizi ikhtiyar karta hai to Allah Subhanahu uska Maqam buland Kar deta hai.”

📕 Sahih Muslim, Jild 6, 6592

Read MoreMuaf Karne se Allah Taala Bande ki Izzat me ijafa karta hai

5/5 - (6 votes)
Ashra Zul-hijjah mein qasrath se Karne waale Amaal

Ashra Zul-hijjah mein qasrath se Karne waale Amaal

1 se 13 Zul Hijjah ko Sooraj Ghuroob Hone Tak Padhi Jane Wali Takbeeraat

الله اكبر الله اكبر لا اله الا الله والله اكبر الله أكبر ولله الحمد

Allah Sabse Bada hai, Allah Sabse Bada hai, Allah ke Siwa koi Ma’bood nahi, aur Allah Sabse Bada hai, Allah Sabse Bada hai, aur Allah ke Liye hi Sab Tareef hai.

📕 Musannaf Ibn Abi Shaybah: 5694

Read MoreAshra Zul-hijjah mein qasrath se Karne waale Amaal

5/5 - (3 votes)
अशरा ज़ुल हज की फ़ज़ीलत ~ क़ुरानो सुन्नत की रौशनी में

अशरा ज़ुल हज की फ़ज़ीलत ~ क़ुरानो सुन्नत की रौशनी में

अशरा ज़ुल हज की फ़ज़ीलत क़ुरानो सुन्नत की रौशनी में ۞ बिस्मिल्लाहिर्रहमानिर्रहीम ۞ तमाम तारीफे …

Read Moreअशरा ज़ुल हज की फ़ज़ीलत ~ क़ुरानो सुन्नत की रौशनी में

Hadees: Walid (Baap) Jannat ka Markazi Darwaza hai

Walid Jannat Ka Markazi Darwaza Hai

Aaj ki Hadees | Hadees of the Day

Walid (Baap) Jannat ka Markazi Darwaza hai

Abu Darda (R.A) farmate hai ke,
Maine Allah ke Rasool (ﷺ) ko ye farmatey huye suna,

“Walid (Baap) Jannat ka Markazi Darwaza hai, Ab ye Tumhari Marzi hai ke Tum Iss Darwazey ko Zaya Karo (Yaani Iss Ko Naraaz kar ke Jannat se Mehroom bano) ya Iski Hifazat karo (Yaani Iss ki Khidmat ke Raste se Jannat me Dakhil ho jao.)”

📕 Jameh Tirmazi: 1900,
📕 Sunan Ibne Majah: 2089,
📕 Musnad Ahmed: 4456

Read MoreWalid Jannat Ka Markazi Darwaza Hai

5/5 - (3 votes)
♪ Shabe Qadr ki Fazilat - Qurano Sunnat ki roshni mein

♪ Shabe Qadr ki Fazilat – Qurano Sunnat ki roshni mein

Shabe Qadr ki Fazilat

Shabe Qadr kya hai? iski fazilate kya hai ? ye kab aati hai? isme kaisi ibadate kare? tafseeli jankari ke liye aayiye is mukhtsar se Audio bayan ka muta’ala kare,. jazakAllahu khairan kaseera,..

People also search as:

5/5 - (8 votes)