0 31

जोहर से पहले की चार रकात सुन्नत पढ़ना

हज़रत आयशा (र.अ) बयान फरमाती है के:

“रसूलुल्लाह (ﷺ) जोहर से पहले चार रकात और फ़र्ज़ से पहले की दो रकात कभी नहीं छोड़ते थे।”

Install App

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More