Kullu Nafsin Zaikatul Mout meaning | हर जानदार को मौत का मज़ा चखना है | कुल्लु नफ़्सिन ज़ाइक़त-उल-माैत

हर जानदार को मौत का मज़ा चखना है | कुल्लु नफ़्सिन ज़ाइक़त-उल-माैत

कुल्लु नफ़्सिन ज़ाइक़त-उल-माैत कुरआन में अल्लाह तआला फर्माता है : “(कुल्लु नफ़्सिन ज़ाइक़त-उल-माैत) हर जानदार को मौत का मज़ा चखना … आगे पढ़े

फज़र और असर पाबन्दी से अदा करना

हदीस: फज़र और असर पाबन्दी से अदा करना…

हदीस: फज़र और असर पाबन्दी से अदा करना। रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फर्माया : “हरगिज़ वह आदमी जहन्नम में दाखिल नहीं हो सकता, जो सूरज निकलने से पहले फज़्र की नमाज और सूरज गुरूब होने से पहले अस्र की नमाज़ पढ़े।” 📕 मुस्लिम : १४३६

नेकी और परहेज़गारी के कामों में एक दूसरे की मदद किया करो

क़ुरआन में अल्लाह तआला फर्माता है : “नेकी और परहेज़गारी के कामों में एक दूसरे की मदद किया करो गुनाह और … आगे पढ़े

Ummat-e-Nabi-Thumbnail-C

दूसरों की औरतों से दूर रहो तुम्हारी औरतें भी पाक दामन रहेंगी

अबू हुरैरह (र.अ) से रिवायत है के,रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फर्माया: “दूसरों की औरतों से दूर रहो तुम्हारी औरतें भी पाक दामन … आगे पढ़े