क़यामत से पहले माल का ज़ियादा होना

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने इरशाद फर्माया :

“उस वक़्त तक क़यामत नहीं आएगी जब तक तुम्हारे अन्दर माल की इतनी कसरत न हो जाए के वह बहने लगे, यहाँ तक के माल वाले आदमी को इस बात पर रंज व ग़म होगा के उस से कौन सदक़ा क़बूल करेगा? वह एक आदमी को सद्के के लिये बुलाएगा तो वह कह देगा के मुझे इस की कोई जरूरत नहीं।”

📕 मुस्लिम: २३४०, अन अबी हुरैरह (र.अ)

5/5 - (1 vote)

और देखे :

Leave a Reply