नमाजों को सही पढ़ने पर मगफिरत का वादा

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फ़र्माया :

पाँच नमाजें अल्लाह तआला ने फर्ज की हैं, जिस ने उन के लिऐ अच्छी तरह वुजू किया और ठीक वक्त पर उन को पढ़ा और रुकू व सज्दह जैसे करना चाहिये वैस हो किया, तो ऐसे शख्स के लिये अल्लाह तआला का पक्का वादा है, के वह उसको बख्श देगा; और जिस ने ऐसा नहीं किया तो लिए अल्लाह तआला का कोई वादा नहीं, चाहेगा तो उसको बख्श देगा और चाहेगा तो सजा देगा।”

📕 अबू दाऊद: ४२५

और देखे :

Share on:

Trending Post

Leave a Reply

close
Ummate Nabi Android Mobile App