नफा न पहुँचाने वाली नमाज़ से पनाह मांगना

हजरत अनस (र.अ) का बयान है के रसूलुल्लाह (ﷺ) यह दुआ फरमाते थे :

तर्जुमा : ऐ अल्लाह! मैं तेरी पनाह चाहता है उस नमाज से जो नफा न पहुँचाती हो।

📕 अबू दावूद १५४१

और देखे :

Trending Post

Leave a Reply

Ummate Nabi Android Mobile App