इन्सान का सर कुदरत का शाहकार

इन्सान के सर को देखिये अल्लाह तआला ने कैसा मुदव्वर, गोल और खूबसूरत बनाया है और उसमें पूरे जिस्म के कीमती खजाने छुपा रखे हैं, इन्सान का सर पचपन हड्डियों से जुड़ा हुआ है, तमाम हड्डियों एक दूसरे से जुदा हैं, सब की शक्लें अलग अलग हैं, छ.हड्डियाँ खोपड़ी के हिस्से में हैं, चौबीस ऊपर के जबड़े में और दो नीचे के जबड़े में और बाकी दाँत में हैं, उन तमाम को हुस्ने तरतीब के साथ जोड़ कर एक खूबसूरत शक्ल बनाई।

गौर करो उस (अल्लाह) की कारीगरी कितनी ज़बरदस्त है।

📕 अल्लाह की कुदरत

Rate this quotes

और देखे :

Leave a Reply