बदन की हड्डी कुदरत की निशानी

उस कादिरे मुतलक की कारीगरी को देखिये।
उस ने एक कतरे से इंसानी जिस्म में क्या क्या कारीगरी की है।

उस में अल्लाह तआला ने मुख्तलिफ किस्म की हड्डियाँ पैदा की, और उन हड्डियों को सुतून
और पीलर नुमा बना कर पूरे जिस्मे इन्सानी को उन पर खड़ा कर दिया।

उन हड्डियों की शक्ल व सूरत को देखिये बाज़ हड्डियाँ टेढ़ी हैं, बाज़ लम्बी हैं,
कुछ गोल हैं, कुछ सीधी हैं, बाज़ चौड़ी हैं, बाज़ पतली है, कुछ हलकी हैं, कुछ भारी हैं,
कुछ ठोस हैं, इस तरह की मुख्तलिफ शक्लों की छोटी बड़ी तकरीबन २४८ हड्डियाँ हैं।

सोचो तो सही एक कतरे से इतना खूबसूरत जिस्म बनाने वाला कौन है ?

और देखे :

Trending Post

1 thought on “बदन की हड्डी कुदरत की निशानी”

Leave a Reply

Ummate Nabi Android Mobile App