नाक – कुदरते इलाही की निशानी

अल्लाह तआला ने इंसान के चेहरे पर नाक बनाई जिस से चेहरे की रौनक बढ़ जाती है और चेहरा खूबसूरत व खुशनुमा मालूम होता है।

फिर उस में अल्लाह ने दो नथने बनाए उनमें कुव्वते हास्सा और शाम्मा (महसूस करने और सूंघने की ताकत) रख दी जिससे नाक खाने पीने की चीजों की बू सूंघ कर फौरन कैफियत का पता लगा देती है।

यही नाक ताजा हवा को भी सूंघती है, जो दिल की गिजा है जिस से अन्दरून की हरारत बरकरार रहती है।

गौर तो करो, यह सारा निजाम किसने बनाया है ?

बेशक उसी अल्लाह ने बनाया है जो जर्रे जर्रे का अकेला मालिक है।

Rate this quotes

और देखे :

Leave a Reply