Browsing category

नबी की नसीहतें

Ghar me Ibadat ki Jaye | Post 5 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 5⃣ “इस्लाम और हमारा घर” घर में इबादत की जाए – नमाज़ अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: “जब तुम में से कोई आदमी मस्जिद में अपनी नमाज़ पढले तो अपनी नमाज़ का कुछ हिस्सा अपने घर के लिए भी रख छोड़े इस लिए के अल्लाह तआ़ला उस की नमाज़ों के ज़रिये से उसके […]

Waqt ki Pabandi, Soney aur Jaagne ka Waqt | Post 4 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 4⃣ “इस्लाम और हमारा घर” वक्त की पाबन्दी – सोने और जागने का वक़्त अबूबर्ज़ा रज़िअल्लाहु अ़न्हु फ़रमाते हैं: “अल्लाह के रसूल ﷺ इशा से पहले सोने और उसके बाद बात चीत करने को नापसंद करते थे।” (बुखारी 535, मुस्लिम 1025) अल्फ़ाज़ बुखारी के हैं । सिरीज » इस्लाम और हमारा घर ——J,Salafy✒—— ▪शेयर […]

Gharwalo ki Taalim aur Tarbiyat | Post 3 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 3⃣ “इस्लाम और हमारा घर” घर वालों की तालीम और उनकी तरबियत, घर वालों को दीन सिखाना “अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया:” “ऐ ईमान वालों ! तुम अपने आप को और अपने घर वालों को जहन्ऩम की आग से बचाओ।” (सूरह अल तहरीम 66) अली रज़िअल्लाहु अ़न्हु (قُوۡۤا اَنۡفُسَکُمۡ وَ اَہۡلِیۡکُمۡ نَارًا) की तफ्सीर में […]

Nek Biwi ka Intekhab | Post 2 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 2⃣ इस्लाम और हमारा घर नेक बीवी का इंतिखाब अल्लाह के रसूल ﷺ ने फ़रमाया: “औरत से चार चीज़ों की बुनियाद पर निकाह किया जाता है । उस के माल, हसब व नसब, खुबसूरती और उस के दीन की बुनियाद पर, तो तुम दीन वाली को चुनो तुम्हारे हाथ खाक आलूद हों । (मुत्तफकुन […]

Ghar Sukun ki Jagah hai | Post 1 | Islam aur Humara Ghar

पोस्ट 1⃣ इस्लाम और हमारा घर घर सुकून की जगह है “अल्लाह तआ़ला ने फ़रमाया:” और अल्लाह ने तुम्हारे घरों को तुम्हारे लिए सुकून की जगह बनाया । (सूरह अल नहल 80) सिरीज » इस्लाम और हमारा घर ✒जेपीपुने————-

Safar ki deegar Dua’yein – सफर की दुआएं

Content Sawaari par sawaar hone ki dua Safar ki dua Basti ya shahar mein daakhil hone ki dua Musaafir ko rukhsat karte waqt ki dua Padaao daalne ki dua Musaafir ki muqeem ke liye dua Safar se waapsi ki dua Bazar mein daakhil hone ki dua بِسْمِ اللهِ  الْحَمْدُ لِلهِ ، سُبْحَانَ الَّذِي سَخَّرَ لَنَا […]

जो कोई दिल से ‘अल्हम्दुलिल्लाही रब्बिल आलमीन’ कहेगा उसके लिए 30 नेकियां लिखी जाएगी

🌟 रसूलअल्लाह (सलअल्लाहू अलैही वसल्लम) ने फरमाया : ❝जो कोई दिल से अल्हम्दुलिल्लाही रब्बिल आलमीन कहेगा (यानी ज़ुबान के साथ दिल से भी इसका यकीन हो की तमाम तारीफें अल्लाह के लिए हैं और वही सारे जहाँ का पालने वाला है) तो उसके लिए 30 नेकियां लिखी जाएगी और 30 गुनाह मिटा दिए जाएँगे”❞ 📕 […]

Sharab se bacho kyunki wo har burayi ki chabi hai

❝ शराब से बचो इसलिए क्यूंकि वो हर बुराई की चाबी है।❞ अल्लाह के अंतिम पैगम्बर (ﷺ) (हदिस: मुस्तदरक: ७३१३) ❝ Sharab se bacho isiliye kyunki wo har burayi ki chabi hai.❞ Allah ke Rasool (ﷺ) (Hadith: Mustadrak: 7313) ❝ Do not drink wine, for it is the key to all evils.’” Sayings of Prophet (ﷺ) […]

इस्लाम की मूल आस्थाये: तौहिद, रिसालत और आखिरत

इस्लाम की मुल आस्थाये ३ है , जिन्हें मानना सम्पूर्ण मानवजाति के लिए अनिर्वाय (Compulsory) है | तौहिद – एकेश्वरवाद (एक इश्वर में आस्था रखना) रिसालत – प्रेशित्वाद (इशदुत, नबी, Messengers) आखिरत – परलोकवाद (मृत्यु के बाद का जीवन) पहली अनिर्वाय आस्था – तौहीद इस्लाम की सबसे पहली जो आस्था है तौहिद इसको हम आपके […]

Shirk se Jo bacch gaya uske liye Aman aur Salamati hai

۞ Bismillah-Hirrahman-Nirrahim ۞ “Jo Log imaan laye aur apne imaan ko Zulm se mahfuz kiya unke liye Aman hai aur wahi hidayat paney wale log hain.“ 📕 Quran: Surah Al-An’am 6:82 Tafseer: Iss aayat ke Sabab Hazrate Abdullah bin Mas’ud (RaziAllahu Anhu) ne farmaya ke: ‘Jab yeh Aayat [Surah Al-An’am 6:82] naazil hui tou hum […]