आखिरत के बारे में | Aakhirat ke baare mein

जन्नती का ताज

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फ़रमाया: “अहले जन्नत के सर पर ऐसे ताज होंगे, जिन का अदना से अदना मोती भी मशरिक

बुरे लोगों का अंजाम

कुरआन में अल्लाह तआला फरमाता है : “जो शख्स झुटलाने वाले गुमराहों में से होगा, तो खौलते हुए गरम पानी

कब्र के बारे में

रसूलल्लाह (ﷺ) ने फरमाया: “कब्र या तो जन्नत के बागों में से एक बाग़ है या जहन्नुम के गढ़ों में

Logon ko khana khilao aur salam karo

ज़ियादा अमल की तमन्ना

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फर्माया : “अगर कोई बन्दा पैदाइश के दिन से मौत आने तक अल्लाह की इताअत में चेहरे

अहले ईमान का बदला

कुरआन में अल्लाह तआला फर्माता है: “उन (अहले ईमान और नेक अमल करने वालों) का बदला उन के रब के

दोज़ख़ की दीवार

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फर्माया : “दोजख की आग की कनातों को चार दीवारों ने घेर रखा है और हर एक

हर नबी का हौज होगा

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फर्माया : “हर नबी के लिये एक हौज़ होगा और अम्बिया आपस में फख्र करेंगे के किस

दोज़खियों का खाना

कुरआन में अल्लाह तआला फर्माता है: “दोज़खियों को खौलते हुए चश्मे का पानी पिलाया जाएगा, उन को कांटेदार दरख्त के

कयामत का मंजर

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फर्माया: “अगर (आखिरत के हौलनाक अहवाल के मुतअल्लिक) तुम्हें वह सब मालूम हो जाए जो मुझे मालूम

कयामत किन लोगों पर आएगी

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फरमाया : “कयामत सिर्फ बदतरीन लोगों पर ही आएगी।” फायदा: जब तक इस दुनिया में एक शख्स

जहन्नम का जोश

कुरआन में अल्लाह तआला फ़र्माता है : “जब जहन्नम (क़यामत के झुटलाने वालों) को दूर से देखेगी, तो वह लोग

जहन्नमी हथौड़े

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फ़रमाया : “अगर जहन्नम के लोहे के हथौड़े से पहाड़ को मारा जाए, तो वह रेजा रेजा

अहले जन्नत की नेअमतें

कुरआन में अल्लाह तआला फ़र्माता है : “परहेज़गारों के लिये (आखिरत में) अच्छा ठिकाना है, हमेशा रहने वाले बागात हैं,

close
Ummate Nabi Android Mobile App