अहले जन्नत की नेअमत: अहले जन्नत ऐश व राहत में होंगे

अहले जन्नत की नेअमत: अहले जन्नत ऐश व राहत में होंगे

कुरआन में अल्लाह तआला फरमाता है:

“बेशक अहले जन्नत (ऐश व राहत के) मजे ले रहे होंगे, वह और उन की बीवियाँ सायों में मसहेरियों पर तकिये लगाए बैठे होंगे और उन के लिये उस जन्नत में हर किस्म के मेवे होंगे और जो वह तलब करेंगे उनको मिलेगा।”

📕 सूरह यासीन ५५ ता ५७

Leave a Comment