लोगों की कंजूसी

कुरआन में अल्लाह तआला फ़र्माता है :

“सुन लो! तुम ऐसे हो के जब तुम को अल्लाह की राह में खर्च करने के लिये बुलाया जाता है,
तो तुम में से बाज लोग बुख्ल करते हैं
और जो कंजूसी करता है, तो हकीकत में अपने ही लिये कंजूसी करता है
और अल्लाह तआला ग़नी है (किसी का मोहताज नहीं)

और तुम सब उस के मोहताज हो।”

📕 सूरह मुहम्मद : ३८

5/5 - (5 votes)

और देखे :

1 thought on “लोगों की कंजूसी”

Leave a Reply