खड़े हो कर नमाज़ पढ़ना

कुरआन में अल्लाह तआला फ़र्माता है :

“नमाज़ में अल्लाह के सामने आजिज़ बने हुए खड़े हुआ करो।”

📕 सूरह बकराह: २३८

फायदा: अगर कोई शख्स खड़े होकर नमाज़ पढ़ने की ताकत रखता हो तो उस पर फ़र्ज और वाजिब नमाज़ को खड़े हो कर पढ़ना फ़र्ज़ है।

5/5 - (2 votes)

और देखे :

Leave a Reply