इस्लाम से पहले क्या था – What was the before Islam ?

अगर इस्लाम ही सच्चा धर्म है तो उससे पहले के व्यक्ति की मुक्ति कैसे होगी ?

6 54,500

✦ प्रायः यह पूछा जाता है कि इस्लाम से पहले कौन सा धर्म था ?
✦ अगर इस्लाम ही सच्चा धर्म है तो क्या उससे पहले के व्यक्ति की मुक्ति कैसे होगी ?.

यह अक्सर प्रश्न नॉन-मुस्लिम भाई पूछते रहते हैं। वैसे इसका एक मुख्य कारण है क्यूं कि वे समझते हैं कि इस्लाम मुहम्मद (सलल्लाहो अलैहि वसल्लम) द्वारा बनाया गया मात्र 1400 साल पुराना धर्म है।

यह प्रश्न भी इसी ग़लतफ़हमी के चलते ही लोगों के ज़ेहन में रचा बसा है कि, इस्लाम धर्म केवल 1400 साल पहले से है, और मुहम्मद (सलल्लाहो अलैहि वसल्लम) उसके संस्थापक हैं जब कि मुहम्मद (सलल्लाहो अलैहि वसल्लम) इस्लाम के संस्थापक नहीं बल्कि अंतिम प्रवर्तक यानि आखिरी रसूल थे, और स्पष्ट है कि जिसका कोई अंतिम हो उसका कोई पहला भी होगा।

✦ तो वह पहला कौन है ?

कुरआन में कई जगह इसका ज़िक्र है कि  “आदम (अलैही सलाम) ही वह प्रथम है। वही प्रथम प्रवर्तक यानि ईश्वर के प्रथम दूत भी थे, जिन्होंने अपनी संतानों को ईश्वरीय सन्देश पहुँचाया और ईश्वरीय शिक्षा दी, और जो कुछ भी उन्होंने बताया, वही उस वक़्त का इस्लाम था, या यूँ कहें कि उन्हीं से इस्लाम धर्म का आरम्भ हुआ।”

यहाँ यह प्रश्न उठता है कि वह आज के मुसलमान की तरह नमाज़, रोज़ा करते अथवा ज़कात आदि देते थे ?
*इसका स्पष्ट उत्तर है कि यह ज़रूरी नहीं कि, उन्हें भी हूबहू ऐसा ही करने का आदेश हो क्यूं कि मात्र रोज़ा, नमाज़ आदि का नाम ही इस्लाम नहीं है बल्कि ईश्वरीय आदेशों के पालन का ही नाम इस्लाम है।

अतः मुहम्मद (सलल्लाहो अलैहि वसल्लम) से पहले जितने भी नबी अथवा रसूल अथवा सन्देश वाहक आये और जिनकी संख्या हदीसों में 1 लाख 24 हज़ार बताई गयी है, जो कुरआन के अनुसार अलग क्षेत्रों में अलग अलग भाषाओँ में उपदेश लेकर आये, उन्होंने अपने अपने समय में, जो कुछ भी पेश किया वही उस समय का इस्लाम था।

* यहाँ यह पुष्टि भी बेहद ज़रूरी है कि, कुरआन हमें यह बताता है कि दुनियां के, हर क्षेत्र में और राष्ट्र में ईश्वर ने अपना पैग़ाम पहुँचाने के लिए और सत्य मार्ग बतला ने के लिए मार्गदर्शक भेजे हैं। वह अपने लोगों को जो पैग़ाम देते थे वही उस समय का इस्लाम था।

बाकि आदम (अलैहि सलाम) से लेकर अंतिम सन्देष्टा मुहम्मद (सलल्लाहु अलैहि वसल्लम) तक के तमाम नबियो के बारे में तफ्सीली जानकारी के लिए निचे दिए हुए इस वीडियो सेशन को जरूर देखे।

For more Islamic messages kindly download our Mobile App

Islam Se Pahle Kya Tha ? , islam dharm ki sthapna

200%
Awesome
  • Like
You might also like

6
Leave a Reply

avatar
4 Comment threads
2 Thread replies
0 Followers
 
Most reacted comment
Hottest comment thread
6 Comment authors
Mohammad Salim AnsariMurad AhmadMohammad Salim (Admin)राजकुमारshahrukh Recent comment authors
newest oldest most voted
Fakaruddin ahmed
Guest
Fakaruddin ahmed

In islam,whether bank interest is haram or not?

राजकुमार
Guest
राजकुमार

कुरान तो बुनियादी रूप से गलत है

Murad Ahmad
Guest
Murad Ahmad

Bina Quran ko pdhe aur smnjhe kuchh bhi baat krna galat hai Raj kumar bhai

Mohammad Salim Ansari
Guest
Mohammad Salim Ansari

Raj Kumar Agar Islam or Quran Bunyadi galat hai to Doctors or Science log Islam kyun Apna rahe hai, wo Hindu Dharam bhi to Apna sakta tha or to or pure Dunia main Teji se aage Islam hi kyun badh raha hai aapki Hindu Dharm bhi to badh sakta tha,
I Love Quran

shahrukh
Guest
shahrukh

Besaq mashallah