19 Jamadi-ul-Akhir | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

19 Jamadi-ul-Akhir | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

इस्लामी तारीख: दीन के मुकम्मल होने का एलान, दाँतों की बनावट में अल्लाह की क़ुदरत, अपने घर वालों को नमाज़ का हुक्म देना, रुख्सत के वक़्त मुसाफा करना, जन्नत का मुस्तहिक, सामान ऐब बताए बगैर फरोख्त करने का गुनाह, अल्लाह तआला को तुम्हारे सब आमाल की खबर है…

18 Jamadi-ul-Akhir | Sirf Panch Minute ka Madarsa

18 Jamadi-ul-Akhir | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

इस्लामी तारीख: हज्जतुलवदा में आखरी खुतबा, इल्म हासिल करना फ़र्ज़ है, क़ब्र के जियारत की दुआ, मुसाफा से गुनाहों का झड़ना, यतीमों का माल खाने का गुनाह, माल व औलाद क़ुर्बे खुदावन्दी का जरिया नहीं …

17 Jamadi-ul-Akhir | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

17 Jamadi-ul-Akhir | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

इस्लामी तारीख: हज्जतुल विदाअ, अल्लाह की कुदरत: इन्सान का सर, एक फर्ज: बीवी की विरासत में शौहर का हिस्सा, सोने से पहले बिस्तर झाड़ लेना, जन्नत में दाखिल करने वाली चीज़, इजार या पैन्ट टखने से नीचे पहनने का गुनाह …

16 Jamadi-ul-Akhir | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

16 Jamadi-ul-Akhir | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

वफ्दे नजरान की मदीने में आमद, मुअजिजा: आँख की रोशनी का तेज होना, नमाज़ दीन ऐ इस्लाम का सुतून है, बीमार पुरसी के वक़्त की दुआ, अल्लाह के लिये अपने भाई की जियारत करना, कंजूसी करने का गुनाह, दुनिया की चीजें चंद रोजा हैं, मोमिन के साथ क़ब्र का सुलूक, दिल की कमज़ोरी का इलाज, छह चीजों की जमानत: जब बात करो तो सच बोलो …

13 Jamadi-ul-Akhir | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

13 Jamadi-ul-Akhir | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

गज्व-ए-तबूक, मुंह में रतूबत (थूक), मय्यित का कर्ज उसके माल से अदा करना, कसरत से इस्तिग़फार करने की सुन्नत, अपने अख़्लाक़ दुरूस्त करने की फ़ज़ीलत, किसी के सतर को देखने का गुनाह, माल जमा करने का नुकसान, परहेज़गारों की नेअमत, मिस्वाक के फवाइद, सुबह शाम खूब ज़िक्रे इलाही किया करो …