अल्लाह और रसूल की नाफरमानी का गुनाह

अल्लाह और रसूल की नाफरमानी का गुनाह

कुरआन में अल्लाह तआला फरमाता है :

“जो शख्स अल्लाह और उस के रसूल की नाफर्मानी करेगा, और उसकी (मुकर्रर की हुई) हदों से आगे बढ़ेगा तो अल्लाह तआला उस को आग में दाखिल करेगा, जिसमें वह हमेशा रहेगा, और उसको जलील व रुस्वा करने वाला अजाब होगा।”

📕 सूरह निसा १४

“जो शख्स अल्लाह और उसके रसूल का कहना न माने वह खुली हुई गुमराही में है।”

📕 सूर-ए-अहजाब: ३६

“बिला शुबा जो लोग अल्लाह और उस के रसूल को (उन का हुक्म न मान कर) तकलीफ देते हैं, अल्लाह तआला उन पर दुनिया व आखिरत में लानत करता है। और उन के लिये जलील करने वाला अज़ाब तय्यार कर रखा है।”

📕 सूरह अहज़ाब : ५७

Leave a Comment