सिर्फ दुनिया की नेअमतें मत मांगो

कुरआन में अल्लाह तआला फर्माता है :

“जो शख्स (अपने आमाल के बदले में) सिर्फ दुनिया के इनाम की ख्वाहिश रखता है (तो यह उस की नादानी है के उसे मालूम नहीं) के अल्लाह तआला के यहाँ दुनिया और आखिरत दोनों का इनाम मौजूद है (लिहाजा अल्लाह से दुनिया और आखिरत दोनों की नेअमतें मांगो) अल्लाह तुम्हारी दुआओं को सुनता और तुम्हारी निय्यतों को देखता है।”

📕 सूरह निसा 134

3/5 - (2 votes)

और देखे :

Leave a Reply