अच्छे और बुरे बराबर नहीं हो सकते

कुरआन में अल्लाह तआला फ़र्माता है:

“क्या वह लोग जो बुरे काम करते हैं, यह समझते हैं के हम उन्हें और उन लोगों को बराबर कर देंगे जो ईमान लाते हैं और नेक अमल करते हैं के उन का मरना और जीना बराबर हो जाए, उनका यह फैसला बहुत ही बुरा है।”

📕 सूरह जासिया : २१

4/5 - (11 votes)

Leave a Comment