मॉडर्न सर्जरी है “इब्न ज़ुहर” की देन

Ibn Zuhr: Father of Modern Surgery

0 807,047

अवेन्ज़ोअर (Avenzoar) (1094–1162): जो लोग मेडिसिन से ताल्लुक रखते है वो ज़रूर इस नाम को जानते होंगे। इनका असल नाम “इब्न ज़ुहर” था। यह वो थे जिन्होंने बहुत सारे ऐसे आलात(इक्यूपमेंट) ईजाद किये जिसके ज़रिये सर्जरी की जाती है,.. मॉडर्न सर्जरी !!!

बहुत सारे आलात फिर चाहे वो ब्लेड की शक्लें हो , मुख़तलिफ़ किस्म के औज़ार हो ये इन्ही की देन है।  और वो औज़ार जो इन्होने ईजाद किये आज भी मौजूद है ऐसे घरो के अंदर जहाँ लोग जमा करते है मुख्तलिफ पुरानी चीज़, ऐसे म्यूजियम में आज भी जमा है जो इस दौर में इस्तेमाल हो रहे है!
– हु-बा-हु वैसे ही थे वो जैसे उन्होंने बनाये,
– चाहे फिर वो दांतो के इलाज के लिए औज़ार हो, पेट चीरने का मुआमला हो और ऑपरेशन करने का मुआमला हो,..
– चाहे फिर आँखों के अंदर से मोतिया बिन्द (आई केट्रैक्ट) निकालने का मुआमला हो !! मुसलमान इस फन में माहिर थे ….

यहाँ तक के मुसलमान ७०० साल यूरोप के पहले से “आई केट्रैक्ट” होलो निड्ल के जरये आसानी से निकाल लेते थे और युरोप ने ये प्रक्टिस १४०० साल के बाद शुरू की वो भी डरते-डरते की कहीं इंसान अँधा न हो जाए।

लेकिन मुसलमान ७ वी सदी तक मोतिया बिन्द निकाल लेते थे आसानी से इतने महारत रखते थे इस फील्ड और इस फन में।

यह मुसलमानो की देन है क्यूंकि उनके रब ने हुक्म दिया की “इक़रा बिस्मे रब्ब-अल-लज़ी ख़लाक़ा (पढ़ अपने रब के नाम से जिस ने पैदा किया)”

– तो बस अपने रब का नाम लेकर पढ़ लिया और हर उलूम के अंदर महारत हासिल कर ली,
– जो-जो नाफ़े और हलाल इल्म था सब हासिल कर लिया …

और पढ़े :

  1. मुसलमानों के साइंसी कारनामे
  2. कागज़ के नोट है इस्लामी सिस्टम देन
  3. औद्योगिककरन के जनक कहलाते है अल-जज़री
  4. रसायनशास्त्र के सबसे पहले जनक थे जाबिर बिन हियान
  5. इब्न-अल-हेथम थे कैमेरा के सबसे पहले अविष्कारक
  6. मेडिकल साइंस के सबसे पहले जनक – इब्न अली सीना
  7. मुस्लिम महिला ने क़ायम की थी दुनिया की पहली यूनिवर्सिटी
  8. हवा में उड़ान भरनेवाला दुनिया का सबसे पहला इन्सान (अब्बास इब्न फिरनास)
  9. साइंस और टेक्नोलॉजी है मुसलमानो की देंन। 
80%
Awesome
  • Design
© Ummat-e-Nabi.com

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of