अजान और इक़ामत के बिच में दुआ रद्द नहीं की जाती

۞ हदीस : अल्लाह के नबी (ﷺ) ने फ़रमाया :

“अजान और इक़ामत के बिच में दुआ रद्द नहीं की जाती, इसीलिए तुम दुआ करो।”

📕 मुसनदे अहमद 13357

Hadeesअज़ानइक़ामतदुआ
Comments (0)
Add Comment

Install App