Allah ke siwa na koi tumhara dost hai na Madadgaar

अल्लाह के सिवा तुम्हारा न कोई दोस्त है और न मददगार | Allah ke siwa na koi tumhara dost hai na Madadgaar

और तुम लोग ज़मीन में (रह कर) तो अल्लाह को किसी तरह हरा नहीं सकते और अल्लाह के सिवा तुम्हारा न कोई दोस्त है और न मददगार [अश-शूरा 42:31]

Meri Namaz Roza Qurbani sab Allah ke liye hai.jpg

मेरी नमाज़, क़ुरबानी, मेरा जीना मरना सब कुछ अल्लाह के लिए है

۞ बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम ۞ मेरी नमाज़, क़ुरबानी, मेरा जीना मरना सब कुछ अल्लाह के लिए है “आप फ़रमा दीजिए बेशक! मेरी नमाज़ मेरी कुर्बानी … आगे पढ़े