हाथ पैरो से है माजूर मगर मोहताज नहीं …

हैद्राबाद: के मोहम्मद हाफिज २ पैर १ हाथ से माजुर लेकिन ये मेहनती शख्स वेल्डिंग का काम करते हुए अपना घर चलाता है ,.
३ साल पहले अपनी ही शादी के दीन एक हादसे का शिकार होकर मोहम्मद हाफिज बुरी तरह जख्मी हो गया था, जिसकी वजह से उसे अपने २ पैर और एक हाथ गवाने पडे,.

लेकिन मिल्लत की तड़प रखने वाले कुछ नेक बन्दों ने अपने माजुर भाई की मदद में २ आर्टिफीसियल पैर लगवाए ,. जिससे वो आज चलने के काबिल बन गया है,. आजाद फाउंडेशन के रिपोर्टर अबू ऐमल भाई ने इनकी दर्दभरी दस्ता न्यूज़ के जरये अवाम में आम करने की कोशिश की जिसपर हमदर्दाने मिल्लत मदद के लिए आगे आये ,..

आजाद फाउंडेशन की जानिब से मोहम्मद हफीज भाई को हर रमजान को रमजान पैकेज के अलावा भी नाद रकम से मदद पोह्चायी जाती है,. मोहम्मद हाफिज जैसे कई माजुर और मुस्ताहिक लोगों तक हर रमजान राशन पैकेज पोह्चाया जाता है ,. आप में से खिदमते खल्क का जस्बा रखने वाले जो भी हज़रात इस नेक काम में शिरकत करना चाहते है तो इस वेबसाइट पर आज़ाद फाउंडेशन से राफ्ता करे,..

*Website: www.azadreporter.com
* Facebook Page: www.facebook.com/ABUAIMALREPORTER

News
Comments (0)
Add Comment