Meri Namaz Roza Qurbani sab Allah ke liye hai.jpg

मेरी नमाज़, क़ुरबानी, मेरा जीना मरना सब कुछ अल्लाह के लिए है

۞ बिस्मिल्लाह-हिर्रहमान-निर्रहीम ۞

मेरी नमाज़, क़ुरबानी, मेरा जीना मरना सब कुछ अल्लाह के लिए है

“आप फ़रमा दीजिए बेशक! मेरी नमाज़ मेरी कुर्बानी मेरा जीना मेरा मरना सब कुछ अल्लाह ही के लिए है जो सारे जहान का मालिक है।”

📕 क़ुरआन; सूरह अल अनआम 6:162

4.7/5 - (12 votes)
Qurbani ka Gosht 3 din se jyada rakhna kaisa Hadees ki roshni me

कुर्बानी का गोश्त ३ दिन से ज्यादा रखना कैसा ?

कुर्बानी का गोश्त ३ दिन से ज्यादा रखना कैसा है ?

अल्लाह के रसूल ने 3 दिन से ज़्यादा कुर्बानी का गोश्त रखने से कभी मना नहीं किया।

उम्मुल मोमिनीन आयशा रज़ियल्लाहु अन्हा से पूछा गया –
क्या रसूल अल्लाह (ﷺ) ने तीन दिन से ज़्यादा कुर्बानी का गोश्त खाने से मना किया है ?

उन्हों ने कहा अल्लाह के रसूल ने ऐसा कभी नहीं किया सिर्फ़ एक साल उस का हुक्म दिया था जिस साल सुखा पड़ा था अल्लाह के रसूल (ﷺ) ने चाहा था ( उस हुक्म के ज़रिए ) के जो मालदार है वो ( गोश्त जमा करने के बजाए ) मोहताजो को खिला दें (यानी गरीबों में गोश्त बांट दे )।

📕 बुखारी शरीफ़ हदीस नं. 5423

Qurbani ka Gosht 3 din se jyada rakhna kaisa

5/5 - (9 votes)
1 Zil Hijjah जिल हिज्जा

1. जिल हिज्जा | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

अंबर मछली में अल्लाह की क़ुदरत, अल्लाह तआला सबको दोबारा ज़िन्दा करेगा, कुर्बानी जहन्नम से हिफाजत का ज़रिया, क़ुरबानी न करने पर वईद, कयामत के दिन बदला कुबूल न होगा …

Khassi janwar ki Qurbani kya jaiz hai?

Khassi janwar ki Qurbani kya jaiz hai?

Ji Haa! Khassi kiya hua Janwar Qurbani me istemal karna Sunnat se sabit hai, tafseeli jankari ke liye post me di hui hadees ka muta’ala kare…

Qurbani ki Niyat / Dua kya hai?

Qurbani ki Niyat / Dua kya hai?

Qurbani ki Dua, Qurbani ki niyat se murad woh Dua hai Jo Sunnat se Sabit hai. « Bismillaahi wallaahu ‘Akbar » [Sahih Muslim: 1965]

Qurbani kin logon par Farz hai ?

Qurbani kin logon par Farz hai?

Qurbani Wajeebi hukm nahi ikhtiyari mu’aamla hai. Lihaja jo Qurbani karne ki taqat rakhta ho woh Qurbani kare…

Qurbani kis din karna Afzal hai?

Qurbani kis din karna Afzal hai?

Qurbani Eid ke Din Namaz ke baad karna Afzal hai, agarche Qurbani Ayyame Tashreeq yaani 4 din tak kar sakte hai…

Qurbani ke kuch Aham Ahqam aur Masail

♫ Qurbani ke kuch Aham Ahqam aur Masail

♫ Ek Azeem Waqia – Hum Qurbani kiyon karte hai ?

♫ Qurbani kis par wajib hai ?

♫ Qurbani ke kuch Aham aur Maqsoos Ahkam aur Masail

۞ Related Post:

Rate this post