Browsing category

सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा

हिंदी में सिर्फ पाँच मिनट का मदरसा कुरआन और सुन्नत की रौशनी में।

इस्लामी तारीख,  हुजूर का मुअजिजा, एक फर्ज के बारे में, एक सुन्नत के बारे में, एक अहेम अमल की फजीलत, एक गुनाह के बारे में, दुनिया के बारे में, आख़िरत के बारे में, तिब्बे नबवी से इलाज, नबी की नसीहत

1. इस्लामी तारीख 2.अल्लाह की कुदरत 3. हुजूर (ﷺ) का मुअजिजा 4. एक फर्ज के बारे में

5. एक सुन्नत के बारे में 6. एक अहेम अमल की फजीलत 7. एक गुनाह के बारे में 8. दुनिया के बारे में 9. आख़िरत के बारे में 10. तिब्बे नबवी से इलाज

13 जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). रमज़ान की फरज़ियत और ईद की खुशी, (2). काइनात की सबसे बड़ी मशीनरी, (3). हज़रत मुहम्मद (ﷺ) को आखरी नबी मानना, (4). इस्मिद सुरमा लगाना, (5). इज्जत की हिफाज़त करना, (6). मोमिन को नाहक़ क़त्ल करने की सज़ा, (7). दुनिया मोमिनों के लिये कैदखाना है, (8). बुरे लोगों का अंजाम, (9). कै (उल्टी) के […]

12 जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). कैदियों के साथ हुस्ने सुलूक, (2). जमात के मुतअल्लिक़ ख़बर देना, (3). कर्ज़ अदा करना, (4). खाने में बरकत, (5). मुसाफा मगफिरत का जरिया है, (6). गुमराही इख्तियार करने का गुनाह, (7). दुनिया चाहने वालों के लिये नुकसान, (8). कब्र के बारे में, (9). ककड़ी के फवाइद, (10). अपने मातहत लोगो का ख्याल करो।

11 जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). गजवा-ऐ-बद्र, (2). हवा में निज़ामे कुदरत, (3). अपने घर वालों को नमाज़ का हुक्म देना, (4). खुश्बू को रद्द नहीं करना चाहिये, (5). सलाम करने पर नेकियाँ, (6). शराब, मुरदार और खिन्ज़ीर हराम है, (7). दुनिया की चीज़ों में गौर व फिक्र करना, (8). अहले जन्नत की नेअमतें, (9). आबे जमजम के फवाइद, (10). […]

10 जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मदीना की चरागाह पर हमला, (2). काफिर का मरऊब हो जाना, (3). दाढ़ी रखने की अहमियत, (4). मगफिरत की दुआ, (5). अच्छे और बुरे अख़्लाक़ की मिसाल, (6). गैरुल्लाह को माबूद बनाने का गुनाह, (7). दुनिया की जाहिरी हालत धोका है, (8). ज़ियादा अमल की तमन्ना, (9). बीमारियों से बचने की तदबीर, (10). सुबह […]

9 जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). औस और खजरज में मुहब्बत और यहूद की दुश्मनी, (2). जमीन का अजीब फर्श, (3). अच्छी तरह मुकम्मल वुजू कर के नमाज़ के लिये मस्जिद जाना, (4). दुआ के कलिमात को तीन बार कहना, (5). शर्म व हया ईमान का जुज़ है, (6). गुनाह से न रोकने का वबाल, (7). सब से बड़ा तक़वे […]

8 जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मदीना के कबाइल से हुजूर (ﷺ) का मुआहदा, (2). ख़ुशहाली आम होने की खबर देना, (3). गुस्ल में पूरे बदन पर पानी बहाना, (4). बच्चों को यह दुआ पढ़ कर दम करें, (5). पसंद के मुताबिक हदिया देना, (6). यतीमों का माल खाने का गुनाह , (7). दुनिया से बेहतर आख़िरत का घर है, […]

7 जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मदीना में मुनाफिक़ीन का जुहूर, (2). गोह की ख़ुसूसियत, (3). आप (ﷺ) की आखरी वसिय्यत, (4). खाना खाते वक्त टेक न लगाना, (5). लोगों की जरूरतें पूरी करने वालो की फ़ज़ीलत, (6). अपने मातहतों पर तोहमत लगाने गुनाह, (7). पेट से ज्यादा बुरा कोई बर्तन नहीं, (8). गुनहगारों के लिये जहन्नम की आग है, […]

6. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). असहाबे सुफ्फा, (2). हुजूर (ﷺ) के हाथों की बरकत, (3). हज की फरज़ियत, (4). दीनी भाई की जियारत की फ़ज़ीलत, (5). बुरी तदबीरें करने का गुनाह, (6). दुनिया का सामान चंद रोज़ा हैं, (7). हर नबी का हौज होगा, (8). सना के फायदे, (9). दावत कबूल करे।

5. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मुहाजिर व अन्सार में भाई चारा, (2). परिन्दों की परवरिश, (3). नेकियों का हुक्म देना और बुराइयों से रोकना , (4). रुकू में हाथों को घुटनों पर रखना, (5). औरत के लिये चंद आमाल, (6). इंसाफ न करने का वबाल, (7). दुनिया मोमिन के लिये कैदख़ाना है, (8). जन्नत के फल और दरख्तों का […]

4. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). अज़ान की इब्तेदा, (2). हज़रत उमर (र.अ) के हक में दुआ, (3). नमाज़ के छोड़ने पर वईद, (4). बिजली कड़कने और बादल गरजने के वक़्त की दुआ, (5). मोमिन का ऐब छुपाना, (6). बुरे आमाल की नहूसत, (7). दुनियावी ज़िन्दगी धोका है, (8). जन्नत के दरख्तों की सुरीली आवाज़, (9). दुआए जिब्रईल से इलाज, […]

3. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मस्जिदे नबवी की तामीर, (2). गूलर के फल में अल्लाह की कुदरत, (3). शौहर के भाइयों से परदा, (4). इशा के बाद दो रकात नमाज पढना, (5). इंसाफ करने की फ़ज़ीलत, (6). चाँदी के बरतन में पीना, (7). दो चीज़ों की ख्वाहिश, (8). दोज़खियों का खाना, (9). बिमारियों का इलाज, (10). अल्लाह तआला के […]

2. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). मदीना मुनव्वरा, (2). आँखों की बीनाई का लौट आना, (3). नमाज़ छोड़ने का नुकसान, (4). बुरे लोगों की सोहबत से बचने की दुआ, (5). अल्लाह की राह में अपनी जवानी लगाने की फ़ज़ीलत, (6). रसूल (ﷺ) के हुक्म को न मानने का गुनाह, (7). हलाक करने वाली चीजें, (8). क़यामत के दिन खुश नसीब […]

1. जमादी-उल-अव्वल | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

(1). वह मुबारक घर जहाँ आप (ﷺ) ने कयाम फर्माया, (2). इन्सान की पैदाइश तीन अंधेरों में, (3). अल्लाह तआला सबको दोबारा ज़िन्दा करेगा, (4). वुजू में तीन मर्तबा कुल्ली करना, (5). मुसलमान को कपड़ा पहनाने की फ़ज़ीलत, (6). वालिदैन की नाफरमानी और जुल्म करने का गुनाह, (7). दो आदतें, (8). जन्नती का दिल पाक […]