23 Rabi-ul-Awal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

23 Rabi-ul-Awal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: रसूलुल्लाह (ﷺ) की मुबारक पैदाइश, अल्लाह की कुदरत : अबाबील परिन्दा, वालिदैन के साथ अच्छा बर्ताव करना, खुशी के वक्त सज्द-ए-शुक्र अदा करना, मुतल्लका / बेवा बेटी की कफालत की फजीलत …

13 Rabi-ul-Awal | Sirf Panch Minute ka Madarsa

13 Rabi-ul-Awal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: याजूज माजूज, अल्लाह की कुदरत : होंठ , वारिसीन के दर्मियान मीरास तक़सीम करना, तक़लीफ पर सब्र करना, बिला शरई उज्र के शौहर से तलाक़ मांगने का गुनाह …

12 Rabbi Ul Awwal

12 Rabi-ul-Awal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: असहाबुल जन्नह (बाग़ वाले), जहन्नम के अज़ाब से बचने की दुआ, आँखों की बीनाई चले जाने पर सब्र करना, आँखों की बीनाई चले जाने पर सब्र करना, कम अज़ाब वाला दोज़खी …

11 Rabi-ul-Awal | Sirf Panch Minute ka Madarsa

11 Rabi-ul-Awal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: क़ौमे सबा, अल्लाह की कुदरत: जानदारों के जिस्म में जोड़, फर्ज: बाजमात इंशा और फज्र की नमाज़ पढ़ना, सुन्नत: खाने में ऐब न लगाना, अपने अज़ीज़ की वफात पर सब्र करना …

10 Rabi-ul-Awal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

10 Rabi-ul-Awal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: असहाबुल क़रिया (बस्ती वाले), हुजूर (ﷺ) का मुअजिज़ा: जौ में बरकत, फर्ज: सज्द-ए-तिलावत अदा करना, सुन्नत: औलाद के लिये दुआ करना, दीन के खिलाफ साज़िश करने का गुनाह …

9 Rabbi Ul Awwal

9 Rabi-ul-Awal | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: हज़रत ईसा (अ.स) का आसमान से उतरना, अल्लाह की कुदरत: ज़मीन की कशिश, फर्ज: वालिदैन के साथ एहसान का मामला करना, सुन्नत: हर अच्छे कामों को दाहनी तरफ से करना, मोमिनीन के लिये मग़फिरत मांगने की फ़ज़ीलत …

21 Muharram | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

21. मुहर्रम | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा 

हजरत इब्राहीम (अ.स) को सज़ा देने की तजवीज़, अल्लाह की कुदरत : मोती की
पैदाइश, एक फर्ज : माँ बाप के साथ अच्छ सुलूक करना, ईमान वालों को तकलीफ देने का गुनाह, आख़िरत: अहले जहन्नम की फरियाद …

30 Zil Hijjah | Sirf Paanch Minute ka Madarsa

30 Zil Hijjah | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

तारीख: तातारी फ़ितना और आलमे इस्लाम, हुजूर (ﷺ) का मुअजिजा : रौशनी का तेज़ होना, एक फर्ज : नमाज़े जुमा के लिए जमात का होना, अहेम अमल : मोमिन की परेशानी में मगफिरत , एक गुनाह : बुरे कामों की सज़ा, नज़रे बद और शैतानी असर से हिफ़ाज़त …

Hadees: Walid (Baap) Jannat ka Markazi Darwaza hai

Walid Jannat Ka Markazi Darwaza Hai

Aaj ki Hadees | Hadees of the Day

Walid (Baap) Jannat ka Markazi Darwaza hai

Abu Darda (R.A) farmate hai ke,
Maine Allah ke Rasool (ﷺ) ko ye farmatey huye suna,

“Walid (Baap) Jannat ka Markazi Darwaza hai, Ab ye Tumhari Marzi hai ke Tum Iss Darwazey ko Zaya Karo (Yaani Iss Ko Naraaz kar ke Jannat se Mehroom bano) ya Iski Hifazat karo (Yaani Iss ki Khidmat ke Raste se Jannat me Dakhil ho jao.)”

📕 Jameh Tirmazi: 1900,
📕 Sunan Ibne Majah: 2089,
📕 Musnad Ahmed: 4456

Read MoreWalid Jannat Ka Markazi Darwaza Hai

5/5 - (3 votes)

Waldain ke Huqooq (Complete Lecture) by Adv. Faiz Syed

Waldain (Maa Baap) ke Aulad par kya Huqooq hote hai,  Walidain se Baccho ne Kaisa Bartaw karna chahiye, Walidain agar Gairmulsim ho tab bhi Aulad ka rawayya unke haq me kaisa ho, Walidain ke Gaursharai amal par Aulad ne kya karna chahiye ? tafsili jankari ke liye Aaiye is bayan ka muatala karte hai.

Baraye meharbani isey jyada se jyada share karne me humara tawoon kare,. JazakAllahu khairan kaseera.

Rate this post