Zameen ki Shakl ke bare me Janiye kya kehta hai Quran (Shape of the earth in Quran)

जानिए: क्या कुरान के अनुसार ज़मीन चपटी है या गोल ?

अक्सर गैरमुस्लिम हज़रात कुरान की सुरह ७९ की आयत ३० के सबब ये ग़लतफहमी रखते है के कुरआन के तहत ज़मीन की शक्ल फ्लैट है, तो आईये उनकी इस ग़लतफहमी का इजाला करने इस मुख़्तसर सी विडिओ का मुताला करते है ..
– बराए मेहरबानी इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करने में हमारा तावून करे!

Geospherical Shape of the earth in Quran by Adv Faiz Syed
The flat earth in the Qur’an ?
Does the Quran state that the earth is flat?
Does The Quran Say The Earth Is Flat ?
What the QURAN says about the SHAPE OF THE EARTH ?
Quranic explanation about earth,egg shaped earth,quran and science,earth in quran,egg shaped,dahaha,shape of earth according to qura,ostrich egg shape,geosphere,shape of the earth in quran,earth according to quran,proof the earth is round,ostrich egg earth,quran chapter 79 verse 30,The Flat Earth in the Quran?,
कुरान के अनुसार ज़मीन चपटी है या गोल ?, क्या क़ुरान के अनुसार धरती चपटी हे ?, पृथ्वी का आकार कैसा है?, कुरान मे धरती को चपटा कहा गया है?

Al Quran and Modern Sciencedahahaearth according to quranearth in quranEarth ScienceEarth Shape in Quranegg shapedegg shaped earthgeosphereislam and scienceostrich egg earthostrich egg shapeproof the earth is roundquran and sciencequran chapter 79 verse 30quranic explanation about earthshape of earth according to qurashape of the earth in quranThe Flat Earth in the Quran?कुरआन और विज्ञानकुरान के अनुसार ज़मीन चपटी है या गोल ?कुरान के वैज्ञानिक चमत्कारकुरान मे धरती को चपटा कहा गया है?कुरान में धरती का आकरक्या क़ुरान के अनुसार धरती चपटी हे?क्या कुरान कहता है कि धरती चपटी है ?पृथ्वी का आकार कैसा है
Comments (3)
Add Comment
  • Omprakash

    mera naam omprakash hai ,maine islam kabul kiya hai, lekin namaz padhane jaata hu to log mera majaak karte hai mujhe sharminda karte hai mai kya karu ki dil khol kar kahu haa mai muslamaan hu

    • Shama

      Haan bhai aap bol sakte hain ki Allah ne mujha hidayat de hai aur maine islam kubul keya hai aap kaun hote hain mera mazak udane wale aur sarminda karne wale.

    • Mohammad Salim (Admin)

      वालैकुम अस्सलाम

      अहेलन व सहेलन अखी. मेरे भाई आपका स्वागत है। जैसे के आपने बताया कि अपने इस्लाम कबूल किया है और नमाज़ के लिए जाने पर लोग आपका मज़ाक उड़ाते है तो भाई यह गलतफहमी की वजह से हो रहा होगा। वो लोग सोंच रहे होंगे के यह कैसा मुस्लिम है जिसे नमाज़ भी ठीक से पढ़ना नही आती वगैरा वगैरा…..

      इसलिए आप उनके साफ साफ बात दीजिये के भाइयों मैन इस्लाम कबूल किया है। और देखिए आपको कितना प्यार, कितनी मुहब्बत और कितनी इज़्ज़त वहां मिलती है। और हां यह बात भी उन लोगों को बता दीजिए के आपने मज़ाक उड़ाने वाला जो बर्ताव किया, अल्लाह उसे देख रहा है। आपको अल्लाह के यहां उस बर्ताव का जवाब देना होगा।


Related Post