27 Ramzan | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

27 Ramzan | सिर्फ़ 5 मिनट का मदरसा

फतेह मक्का, पहाड़ों से चश्मे का जारी होना, सदका-ए-फित्र, जुमा और इदैन के लिए गुस्ल करना, बेटियों की अच्छी तरह परवरिश करना, नमाज़ छोड़ना, दुनिया की मुहब्बत हलाक करने वाली है, अहले जन्नत के उम्दा फर्श, मुसलमान आपस में एक दूसरे के भाई हैं…