0 88

सूरह बक़रह से इलाज

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फर्माया :

“अपने घरों में सूरह बक्ररह पढ़ो, इस लिये के शयातीन व आसेब उस घर में दाखिल नहीं होते जिस घर में सूरह बक़रह पढ़ी जाती है।”

Install App

Leave a Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More