गैरकानूनी रिश्ते लोगों के पारिवारिक संबंध को नष्ट-भ्रष्ट करनेवाली सामाजिक आपदा है

गैरकानूनी रिश्ते लोगों के पारिवारिक संबंध को नष्ट-भ्रष्ट करनेवाली सामाजिक आपदा है

गैरकानूनी रिश्ते

“अवैध/गैरकानूनी रिश्ते अनैतिक है। यह दो व्यक्तियों के पाप से बढकर, अनेक लोगों के पारिवारिक संबंध को नष्ट-भ्रष्ट करनेवाली सामाजिक आपदा है।”

Leave a Comment