सामान ऐब बताए बगैर फरोख्त करने का गुनाह

रसूलुल्लाह (ﷺ) ने फर्माया :

“मुसलमान मुसलमान का भाई है और किसी मुसलमान के लिये अपने भाई से ऐब वाले सामान को ऐब बयान किए बगैर फरोख्त करना जाइज नहीं।”

📕 इब्ने माजा : २२४६, अन उकबा बिन आमिर (र.अ)

5/5 - (5 votes)

और देखे :

Leave a Reply